पीएम नरेन्द्र मोदी ने चुनावी साल में छत्तीसगढ़ की जनता को साधने कही ये खास बातें
Janjgir News in Hindi

पीएम नरेन्द्र मोदी ने चुनावी साल में छत्तीसगढ़ की जनता को साधने कही ये खास बातें
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (फाइल फोटो)

किसान व अनुसूचित जाति बाहुल्य इलाके जांजगीर पहुंचे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के भाषण का ज्यादतर हिस्सा इन्हीं पर केन्द्रीत रहा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 22, 2018, 6:20 PM IST
  • Share this:
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी शनिवार को छत्तीसगढ़ के जांजगीर पहुंचे. ये पहला मौका था जब आजादी के बाद देश का कोई प्रधानमंत्री जांजगीर जिला पहुंचा हो. किसान व अनुसूचित जाति बाहुल्य इलाके जांजगीर पहुंचे पीएम मोदी के भाषण का ज्यादतर हिस्सा इन्हीं पर केन्द्रीत रहा. चुनावी साल में पीएम मोदी ने छत्तीसगढ़ की जनता को भाजपा के पक्ष में साधने की भी पूरी कोशिश की. साथ ही करोड़ों रुपयों के विकास कार्यों की सौगात भी दी. पीएम मोदी ने राष्ट्रीय मार्ग व रेल परियोजनाओं का शिलान्यास किया.

चार महीने में तीसरी बार छत्तीसगढ़ दौरे पर आए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इस बार भी छत्तीसगढ़ी भाषा में अपना संबोधन ​शुरू किया. पीएम ने कहा जय जोहार. अनुसूचित जाति बाहुल्य जांजगीर जिले में पीएम मोदी ने अपने भाषण से इस वर्ग को विशेष रूप से साधन की कोशिश की. अपने भाषण के शुरुआत में पीएम मोदी ने कहा
''छत्तीसगढ़ महतारी ल सत् सत् प्रणाम...जय सतनाम.''


प्रधानमंत्री ने अपने भाषण में छत्तीसगढ़ की जनता का प्रदेश में स्थिर राजनीतिक माहौल देने के लिए आभार जताया. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा ''आमतौर पर छोटे राज्यों में राजनीतिक अस्थिरता रहती है. राजनीतिक उथल पुथल होता है, लेकिन छत्तीसगढ़ की जनता ने समझदारी भरा निर्णय लेते हुए. लगातार एक अच्छी सरकार चुनी, जो प्रदेश का विकास कर रही है.''



Chhattisgarh News
जांजगीर में पीएम मोदी का स्वागत करते सीएम डॉ. रमन सिंह व केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी.

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की तारीफ करते हुए कहा कि उन्‍होंने राज्‍य को प्रगति वाले राज्‍यों में शामिल किया है. पीएम मोदी ने कहा ''रमन सिंह गरीबों को चावल बांटकर चाउर वाले बाबा बन गए. दूसरा कोई रहता तो चाउर वाले बाबा बनकर वोट बंटोरने की राजनीति करता, लेकिन रमन सिंह ने एक ओर गरीब जनता को चावल, नमक, चप्पल, गैस चूल्हा, शौचालय, बिजली सहित अन्य सुविधाएं दीं तो दूसरी तरफ छत्तीसगढ़ के उज्ज्वल भविष्य के लिए उद्योगों को बढ़ावा दिया और नौजवानों को ताकतवर बनाने का काम भी किया.''

पीएम नरेन्द्र मोदी ने कहा कि केन्द्र की पिछली सरकार के कुछ लोग कहते थे कि राज्यों के लिए अगर एक रुपये जारी होता है तो वहां पहुंचते पहुंचते 15 पैसा हो जाता है. मैं पूछना चाहता हूं कि बीच की रकम कहां जाती थी. पीएम ने कहा
''वर्तमान सरकार में एक रुपये दिया जाता है तो राज्य में पूरे एक रुपये का विकास कार्य भी हो रहा है.''


पीएम मोदी ने कहा कि गरीबी हटाने के नारे पहले भी दिए जाते थे, लेकिन गरीबों को घर नहीं मिलता था. गरीब को घर पाने के लिए कर्ज लेना पड़ता था. साहूकारों से कर्ज लेकर गरीब मकान लेता था, लेकिन कर्ज नहीं चुका पाने के कारण बाद में साहूकार उसपर कब्जा कर लेते थे और गरीब परिवार वापस सड़क पर आ जाता था. अब गरीबों के लिए पीएम आवास योजना का लाभ दिया जा रहा है. पीएम ने कहा
''हमरा लक्ष्य है कि आजादी की 75वें साल 2022 तक हिंदूस्तान के हर परिवार के पास अपना घर हो.''


पीएम मोदी ने कहा कि हमें छत्तीसगढ़ बनाना है. आधुनिक छत्तीसगढ़ बनाना है. प्रधानमंत्री ने अपने भाषण में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का भी जिक्र किया. पीएम मोदी ने कहा कि अटल जी के पास विकास को लेकर वीजन था. विकास के विजन के तहत ही उन्होंने छत्तीसगढ़, झारखंड व उत्तराखंड राज्य की स्थापना की. यदि अटल जी ने छत्तीसगढ़ नहीं बनाया होता तो आज भी आप लोग मध्यप्रदेश के एक कोने का हिस्सा होते.

जांजगीर में हैलीपैड से कार्यक्रम स्थल जाते पीएम मोदी, सीएम रमन सिंह व अन्य.


पीएम मोदी ने अपने संबोधन में किसानों पर भी खुलकर बात की. पीएम मोदी ने कहा जिस तरह से बीमार होने पर शरीर की जांच की जाती है. उसी प्रकार खेतों में अच्छी फसल के लिए मिट्टी की जांच भी जरूरी है. छत्तीसगढ़ की राज्य सरकार सहित भारत सरकार ने इस ओर काम किया है. पहले यूरिया के लिए किसानों पर लाठी चार्ज होता था. क्योंकि यूरिया खेतों की जगह कारखानों में पहुंचाई जाती थीं. हमारी सरकार में अब यूरिया सीधे किसानों को मिले इसकी व्यवस्था की गई है.

यह भी पढ़ें: आरक्षित सीटों पर बीजेपी का समीकरण बिगाड़ सकता है माया-जोगी गठबंधन..!

पीएम नरेन्द्र मोदी ने कहा कि अकेले छत्तीसगढ़ में अब तक किसानों को 13 करोड़ रुपये किसान बीमा योजना के तहत बांटे गए हैं. रमन सरकार ने किसानों फसल लगने से पहले से लेकर फसल कटने के 15 दिन बाद तक की सुरक्षा का जिम्मा लिया है. जांजगीर में केले के रेशे से बनी जैकेट किसान द्वारा पीएम को पहनाए जाने का जिक्र करते हुए मोदी ने कहा जिस केले के रेशे को लोग फेंक दिया करते थे. आज छत्तीसगढ़ के किसान द्वारा बनाई गई उसी के रेशे की जैकेट को प्रधानमंत्री ने पहना है.

पीएम मोदी ने कहा कि किसानों की आय दोगूनी करने के क्षेत्र में सरकार हर संभव मदद कर रही है. हमने किसान के सर्वांगिण विकास के मकसद से काम किया. इससे पहले सरकारें आईं और गईं, लेकिन किसानों के हित के लिए कुछ नहीं किया. हम क्रांतिकारी दिशा में काम कर रहे. एक मन और एक संकल्प के तहत काम कर रहे हैं. डॉ. रमन सिंह के नेतृत्व में जो भी काम होता है. भारत सरकार उसमें मदद करती है. छत्तीसगढ़ ने संकटों के आगे बढ़कर काम किया. सपने और बड़े हैं-मंजिल बड़ी है.

यह भी पढ़ें: पंचायत से पार्लियामेंट तक कमल खिलाने अमित शाह ने खेला ये इमोशनल स्ट्रोक

गौरतलब है कि पीएम मोदी ने जांजगीर में 1,607 करोड़ की बिलासपुर-पथरापाली फोर लेन सड़क और 1,697 करोड़ 79 लाख रुपये की बिलासपुर-अनूपपुर तीसरी रेल लाइन परियोजना का शिलान्यास किया. बिलासपुर-पथरापाली सड़क परियोजना का निर्माण केन्द्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय के अंतर्गत भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण द्वारा किया जाएगा. वहीं दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के बिलासपुर-अनूपपुर खण्ड की तीसरी लाइन के निर्माण से छत्तीसगढ़ के बिलासपुर से मध्यप्रदेश के जिला मुख्यालय अनूपपुर तक रेल यातायात काफी आसान हो जाएगा. इसके निर्माण में एक हजार 696 करोड़ 79 लाख रूपए की लागत आएगी. इस नए रेलमार्ग की लम्बाई 152 किलोमीटर होगी. इसमें से 119.55 किलोमीटर का हिस्सा छत्तीसगढ़ में और करीब 32.45 किलोमीटर का हिस्सा मध्यप्रदेश में होगा.

यह भी पढ़ें: चुनावी दंगल के लिए निर्वाचन आयोग तैयार, इस बार एयर एंबुलेंस की भी व्यवस्था

-विधानसभा चुनाव: एंटी इनकंबेंसी से निपटने के लिए इस फार्मूले पर काम कर रही BJP
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज