Home /News /chhattisgarh /

IPS जीपी सिंह 2 दिन की पुलिस रिमांड पर, कोर्ट जाने से पहले बोले- मेरे खिलाफ बनावटी केस

IPS जीपी सिंह 2 दिन की पुलिस रिमांड पर, कोर्ट जाने से पहले बोले- मेरे खिलाफ बनावटी केस

गिरफ्तार आईपीएस जीपी सिंह को ईओडब्ल्यू के दफ्तर लाया गया.

गिरफ्तार आईपीएस जीपी सिंह को ईओडब्ल्यू के दफ्तर लाया गया.

Suspended IPS GP Singh News: छत्तीसगढ़ के निलंबित आईपीएस जीपी सिंह की गिरफ्तारी के बाद बुधवार की शाम उन्हें गुरुग्राम से रायपुर लाया गया. रायपुर के ईओडब्ल्यू कार्यालय में जीपी सिंह से लंबी पूछताछ की गई. ईओडब्ल्यू ने जीपी सिंह पर जांच में सहयोग नहीं करने का आरोप लगाया है. जीपी सिंह पर आय से अधिक संपत्ति का केस ईओडब्ल्यू में दर्ज है. इसके अलावा रायपुर के पुलिस थाने में जीपी सिंह के खिलाफ राजद्रोह का भी केस दर्ज किया गया है.

अधिक पढ़ें ...

रायपुर. छत्तीसगढ़ के गिरफ्तार निलंबित आईपीएस जीपी (गुरजिंदर पाल) सिंह को बुधवार की शाम रायपुर लाया गया. रायपुर पुलिस जीपी सिंह को लेकर सीधे ईओडब्ल्यू के दफ्तर पहुंची, जहां उनसे लंबी पूछताछ की गई. इसके बाद उन्हें रायपुर कोर्ट में पेश किया गया. कोर्ट जाने से पहले जीपी सिंह ने मीडिया से कहा- मेरे खिलाफ आरोप फेब्रिकेटेड (बनावटी) हैं, आप FIR देखेंगे तो आपको समझ आ जाएगा कि उसमें प्रॉपर्टी मेरे पिताजी की है. हमारी प्रोपर्टी नही है, न उससे हमारा लेना देना है. ईओडब्ल्यू की टीम ने उनपर जांच में सहयोग नहीं करने के आरोप लगाए.

इसके बाद उन्हें कोर्ट में पेश किया गया, जहां ईओडब्ल्यू ने 7 दिन की रिमांड के लिए आवेदन लगाया, लेकिन कोर्ट ने 2 दिन की पुलिस रिमांड दी. उसके बाद जीपी सिंह को फिर से न्यायालय में पेश किया जाएगा. बता दें कि बीते मंगलवार की देर शाम को दिल्ली के पास गुरुग्राम से गिरफ्तार किया गया था. जीपी सिंह पर आय से अधिक संपत्ति का केस दर्ज है. इसी मामले में ईओडब्ल्यू की टीम ने उन्हें गिरफ्तार किया है. 1994 बैच के आईपीएस जीपी सिंह पर सरकार को अस्थिर करने के प्रयास के मामले में राजद्रोह का मामला भी दर्ज है. दोनों ही केस जुलाई 2021 में रायपुर में दर्ज किए गए थे.

बुधवार को जीपी सिंह के वकील भी EOW के दफ्तर पहुंचे. वकील आशुतोष पाण्डे, हिमांशु सिन्हा को भीतर नहीं जाने दिया गया. बता दें कि आर्थिक अपराध अन्वेषण ब्यूरो रायपुर के अपराध क्रमांक 22/2021 धारा 13(b),13(2) भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम एवं धारा 201, 467, 471 के तहत जीपी सिंह पर केस दर्ज है. आरोपी निलंबित अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक जीपी सिंह, जिन्हें प्रकरण की विवेचना में उपस्थित होने के लिए कई नोटिस जारी किए गए थे और उसके बाद भी वह विवेचना में सहयोग नहीं कर रहे थे ना और ना ही EOW कार्यालय में उपस्थित हो रहे थे. उन्होंने सुप्रीमा कोर्ट में गिरफ्तारी से रोक के लिए अर्जी लगाई थी, लेकिन कोर्ट ने उसे नामंजूर कर दिया था. इसके बाद से वे फरार चल रहे थे.

सियासत हुई तेज
निलंबित IPS जीपी सिंह की गिरफ्तारी पर पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल का बयान सामने आया है. बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि अपने स्वार्थों की पूर्ति के लिए अधिकारियों को बलि का बकरा बना रहे हैं. छत्तीसगढ़ में 100 से ज्यादा अधिकारियों के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोप में जांच चल रही है. क्या सरकार उनके खिलाफ जुर्म दर्ज कर चालान प्रस्तुत कर रही है. राजनीतिक कारणों की वजह से किसी अधिकारी को प्रताड़ित करना इससे आने वाले समय में अधिकारी छत्तीसगढ़ में काम करने से बचेंगे और विकास रूकेगा.

Tags: IPS Officer, Raipur news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर