होम /न्यूज /छत्तीसगढ़ /

छत्तीसगढ़ में नामकरण को लेकर सियासत तेज, जीएस मिश्रा बोले- बीजेपी की सरकार आई तो सभी आदेश होंगे UNDO

छत्तीसगढ़ में नामकरण को लेकर सियासत तेज, जीएस मिश्रा बोले- बीजेपी की सरकार आई तो सभी आदेश होंगे UNDO

Chhattisgarh News: छत्तीसगढ़ में अब नामकरण को लेकर सियासत तेज हो गई है.

Chhattisgarh News: छत्तीसगढ़ में अब नामकरण को लेकर सियासत तेज हो गई है.

Chhattisgarh News: छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh Politics) में नामकरण को लेकर सियासत तेज हो गई है. दरअसल 02 अगस्त को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (CM Bhupesh Baghel) द्वारा खरोरा कॉलेज का नामकरण कांग्रेस नेता गिरिश देवांगन के पिता नाम पर कर दिया था. इस पर अब बीजेपी ने निशाना साधा है. जीएस मिश्रा का कहना है कि सरकार कांग्रेसी नेताओं के नाम पर नामकरण कर रही है.

अधिक पढ़ें ...

रायपुर. छत्तीसगढ़ में नामकरण को लेकर सियासत गरमा गई है. 02 अगस्त को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा खरोरा कॉलेज का नामकरण कांग्रेस नेता गिरिश देवांगन के पिता रामप्रसाद देवांगन के नाम पर करने पर बीजेपी ने सरकार पर निशाना साधा है. पूर्व आईएएस अधिकारी और बीजेपी नेता जीएस मिश्रा ने सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि यह सरकार सत्ता के नशे में मदहोश हो गई है. नामकरण को लेकर समान्य प्रशासन विभाग की ओर से नियम बने हुए हैं जिसके तहत दानदाता के नाम पर, स्वतंत्रा संग्राम सेनानी के नाम पर या प्रतिष्ठित व्यक्ति के नाम पर करने का नियम है.

जीएस मिश्रा का कहना है कि मगर यह सरकार कांग्रेसी नेताओं के नाम पर नामकरण कर रही है जिसका ग्रामीण भारी विरोध कर रहे हैं. वहीं यह भी कहा कि सरकार के द्वारा किए गए नामकरण के विरोध में ग्रामीण आंदोलन कर रहे हैं 0जिनसे बात करने अब तक कोई भी जिम्मेदार नहीं गया.

मोहरेंगा स्कूल का नाम हुआ मंडल दास गिलहरे के नाम पर

मोहरेंगा के स्कूल का नाम भी मंडल दास गिलहरे के नाम पर करने पर बीजेपी ने आपत्ति दर्ज कराई है. पूर्व विधायक देवजी पटेले ने बताया कि सरकार के इस निर्णय के खिलाफ स्थानीय लोग चक्काजाम कर रहे हैं. लगातार आंदोलन कर रहे ह. मगर प्रशासन सुध तक नहीं ले रही है.

ये भी पढ़ें:  ट्रेन में पैसेंजर को मिला लेटर, लिखा था- ‘बम की धमकी को मजाक समझा तो सब मरोगे’,जानें फिर क्या हुआ

जीएस मिश्रा का अल्टीमेटम

पूर्व आईएएस अधिकारी और बीजेपी नेता जीएस मिश्रा ने दोनों ही मामलों को लेकर कहा कि अगर सरकार नियमानुसार कार्रवाई नहीं करती है तो बीजेपी की सरकार आने के बाद सरकार द्वारा लिए गए ऐसे निर्णयों को अनडू कर दिया जाएगा.

Tags: Chhattisgarh news, Raipur news

अगली ख़बर