अपना शहर चुनें

States

कोरबा में जेल ब्रेक के बाद कैदी की मौत, BJP ने लगाए गंभीर आरोप

कोरबा जिले के कटघोरा जेल से जेल ब्रेक के दौरान मौत हुई कैदी के मामले में सियासत गरमा गई है.
कोरबा जिले के कटघोरा जेल से जेल ब्रेक के दौरान मौत हुई कैदी के मामले में सियासत गरमा गई है.

13 जुलाई को छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले के कटघोरा में हुई जेल ब्रेक की घटना पर घमासान मचना शुरू हो गया है.

  • Share this:
कोरबा जिले के कटघोरा जेल से जेल ब्रेक के दौरान मौत हुई कैदी के मामले में सियासत गरमा गई है. बीजेपी के कटघोरा विधायक सौरभ सिंह और नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने आरोप लगाया कि यह कस्टोडियल डेथ का मामला है. विधायक सौरभ सिंह परिहार ने आरोप लगाया यह सीधे सीधे हत्या का प्रयास है. उन्होंने यह भी कहा कि 30 फूट से कोई कैसे कूदने की कोशिश कर सकता है. मृतक के परिजनों को मुआवजा देने की मांग भी की है.

बीते 13 जुलाई को हुई कटघोरा जेल ब्रेक की घटना पर घमासान मचना शुरू हो गया है. पूर्व मंत्री और विधायक ननकीराम कंवर के नेतृत्व में बनी बीजेपी की जांच समिति ने यह रिपोर्ट दी है कि कैदी की मौत जेल में ही हुई पिटाई से हुई है. बीजेपी दफ्तर में एक प्रेस काँफ्रेंस के दौरान अकलतरा विधायक सौरभ सिंह ने आरोप लगाया कि दोनों कैदी रमेश कुमार और अशोक कुमार चोरी के आरोपी थे. उन पर आरोप है कि 13 जुलाई को उन्होंने जेल ब्रेक करने की कोशिश की. इस दौरान अशोक का पैर टूट गया था. उसे जांच के बाद कोरबा जिला अस्पताल रेफर किया गया. वहीं रमेश को स्वस्थ बताकर वापस जेल भेज दिया गया था. 9 घंटे बाद बताया जाता है कि उसकी मौत हो गई.

हत्या का आरोप
विधायक सौरभ सिंह ने आरोप लगाया कि यह हत्या का मामला है. उन्होंने यह भी कहा कि जेल ब्रेक जैसी लापरवाही के लिए भी जेल के किसी अधिकारी कर्मचारी को सस्पेंड तक नहीं किया गया. वहीं नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने आरोप लगाया कि कांग्रेस की सरकार में आने के बाद कस्टडी के दौरान मौत के मामले बढ़े हैं. उन्होंने कहा कि नहीं इसमें विराम लग रहा है और ना ही सरकार इसे गंभीरता से लेती है. उन्होंने यह भी कहा कि इस पूरे मामले को वो विधानसभा में भी उठाएंगे.
ये भी पढ़ें: प्रेम विवाह के बाद फांसी पर लटकी मिली महिला की लाश, आत्महत्या और हत्या की गुत्थी में उलझी पुलिस 



ये भी पढ़ें: बीवी से छुटकारा पाना चाहता था ये शख्स, दोस्त के साथ मिलकर किया ये खौफनाक काम  
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज