लाइव टीवी

ITMS पर उठा सवाल, लोगों ने पूछा- कैमरे के बावजूद क्यों रोक रही है ट्रैफिक पुलिस?
Raipur News in Hindi

Raghwendra Sahu | News18 Chhattisgarh
Updated: February 12, 2020, 6:35 PM IST
ITMS पर उठा सवाल, लोगों ने पूछा- कैमरे के बावजूद क्यों रोक रही है ट्रैफिक पुलिस?
रायपुर की ट्रैफिक पुलिस पर लोगों ने सवाल खड़े कर दिए हैं.

पुलिस और नगर निगम की ओर से दावा किया गया था कि इस सिस्टम के बाद ट्रैफिक रुल तोड़ने वालों पर कैमरे की नजर रहेगी और चौक चौराहों पर पुलिस द्वारा किए जाने वाले अवैध उगाही पर भी रोक लगेगी.

  • Share this:
रायपुर. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) की राजधानी रायपुर (Raipur) में पुलिस ने ट्रैफिक में सुधार को लेकर पिछले 3 दिनों से अभियान चलाया हुआ है लेकिन करोड़ों रुपए की लागत से इंटीग्रेटेड ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम (आईटीएमएस) (ITMS) लगाए जाने को लेकर सवाल उठ रहे हैं. रायपुर स्मार्ट सिटी (Raipur Smart City) प्रोजेक्ट के तहत रायपुर के प्रमुख चौक-चौराहों पर 300 कैमरे लगाए गए हैं और इस आईटीएमएस के लिए 158 करोड़ रुपए खर्च किए गए हैं. पुलिस (Police) और नगर निगम (Nagar Nigam) की ओर से दावा किया गया था कि इस सिस्टम के बाद ट्रैफिक रुल (Traffic Rules) तोड़ने वालों पर कैमरे की नजर रहेगी और चौक चौराहों पर पुलिस द्वारा किए जाने वाले अवैध उगाही पर भी रोक लगेगी. इसी के साथ जो भी ट्रैफिक रुल्स तोड़ते हैं उनके घर ई-चालान (E-Challan) पहुंचेगा.

इस वजह से आम लोगों को हो रही परेशानी

पुलिस ई-चालान लोगों के घर भी पहुंचा रही है. बावजूद इसके सड़कों पर उतर कर इस तरह ट्रैफिक अमले को झोंक अभियान चलाने को लेकर सवाल खड़े हो रहे है. आम लोगों का भी कहना है कि इस तरह लोगों को परेशान किया जा रहा है. कई बार दुर्घटना भी घटित हो जाती है. वहीं आम लोग भी मान रहे हैं कि कैमरों से लोगों पर नजर रखकर और नियम तोड़ने वालों पर कारवाई की जा सकती है. पुलिस द्वारा चलाए जा रहे इस अभियान को लेकर राजधानी के दिनेश पटेल का कहना है कि ये लोगों को परेशान करने वाला अभियान है. जब हेलमेट की चेकिंग की जा रही है तो चालान के बजाय हेलमेट देना चाहिए साथ ही समझाईश भी दें. ऐसे ही रमन कुमार का कहना है कि हेलमेट पहने लोगों का भी जबरन चालान काटा जा रहा है. इस तरह के अभियान से लोग कई बार हड़बड़ी में गिर जाते हैं. जब पुलिस द्वारा सीसीटीवी लगाया गया है तो ई-चालान घर-घर भेजना चाहिए.

अधिकारी का तर्क

वहीं इस मामले को लेकर ट्रैफिक विभाग के एडिश्नल एसपी एमआर मंडावी का कहना है कि लोगों के द्वारा ई-चालान कम पटाए जा रहे हैं और यही वजह है कि सड़क पर उतरकर अभियान चलाया जा रहा है.
​पुलिस के अधिकारी चाहे जो भी तर्क दें लेकिन आईटीएमएस सिस्टम की तारीफ करते ट्रैफिक और पुलिस विभाग के अधिकारी तारीफ करते नहीं थकते थे, लेकिन इसके बाद भी सड़कों पर उतरना पड़ रहा है.



लोगों का आरोप: परेशान कर रही पुलिस.




इस अभियान के विरोध में आमजन तो हैं ही राजनीतिक दलों ने भी विरोध जताया है. विधायक विकास उपाध्याय इस अभियान को तत्काल बंद करने की मांग तक कर चुके हैं और नहीं करने पर विधायक द्वारा खुद लोगों से चालान नहीं पटाने की अपील करने की बात कही है. ऐसे में पुलिस अभियान जारी रखती है या फिर बंद करती है ये देखने वाली बात होगी.








ये भी पढ़ें: 




News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रायपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 12, 2020, 6:35 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर