होम /न्यूज /छत्तीसगढ़ /दिल्‍ली की रामकी कंपनी रायपुर में 15 साल तक करेगी कचरा प्रबंधन

दिल्‍ली की रामकी कंपनी रायपुर में 15 साल तक करेगी कचरा प्रबंधन

मीडिया से चर्चा करते हुए महापौर प्रमोद दुबे.

मीडिया से चर्चा करते हुए महापौर प्रमोद दुबे.

रायपुर नगर निगम में शुक्रवार को समान्य सभा में दिल्ली की रामकी कंपनी को 15 साल के लिए राजधानी के कचरा प्रबंधन का जिम्मा ...अधिक पढ़ें

    रायपुर नगर निगम में काफी ड्रामे और हंगामे के बाद आखिर सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट पर शुक्रवार को समान्य सभा ने अपनी मुहर लगा दी है. दिल्ली की रामकी कंपनी को 15 साल के लिए राजधानी के कचरा प्रबंधन का जिम्मा देने का प्रस्ताव पास हो गया. इसके अलावा जवाहर मार्केट में दुकानों के आवंटन के लिए भी सर्वसम्मति से एक कमेटी बना दी गई.

    नगर निगम में काफी शोर-शराबे के बीच सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट का प्रस्ताव पास हुआ. दरअसल कई एमआईसी सदस्यों ने इसकी दर को लेकर विरोध जताया था, क्योंकि कंपनी ने अपनी दर 1950 रुपए प्रति मीट्रिक टन प्रतिदिन टिपिंग फीस के हिसाब से रखी है, जबकि दिल्ली और पुणे जैसे शहरों में ये दर काफी कम है. इसीलिए एमआईसी सदस्यों ने इस पर आपत्ति जताई, लेकिन आखिरी में सभापति द्वारा कराई गई वोटिंग के आधार पर सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट का प्रस्ताव पास हो गया. इसके अलावा बूढ़ातालाब का विकास पीपीपी मोड पर करने और एंटरटेनेमेंट सेंटर बनाने के अलावा सार्वजनिक जगहों पर पार्किंग शुल्क बढ़ाने का प्रस्ताव संशोधन के साथ पास हुआ.

    सामान्य सभा की बैठक के दौरान महापौर परिषद् के सदस्यों और महापौर के बीच ही कई विरोधाभास देखने को मिले. एमआईसी के ही सदस्यों ने सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट की दर को लेकर आपत्ति दर्ज कर दी और वोटिंग के दौरान भी महापौर को समर्थन नहीं दिया. ऐसे में विपक्ष ने सीधे तौर पर निशाना साधते हुए कांग्रेस पार्षदों के बीच दो फाड़ होने की बात कही है. वहीं महापौर प्रमोद दुबे ने इस बात को खारिज करते हुए कहा है कि हर किसी को अपनी बात रखने का हक है और इसलिए जनप्रतिनिधियों ने अपनी बात सदन में रखी.

    Tags: Raipur Municipal Corporation

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें