Assembly Banner 2021

Solar Eclipse 2020: 4 घंटे का होगा ग्रहण, बंद रहेंगे मंदिर के पट, जानें राशियों पर प्रभाव

ज्योतिषाचार्यों के अनुसार इस सूर्य ग्रहण के समय ग्रह और नक्षत्रों का ऐसा संयोग बनने जा रहा है जो पिछले 500 सालों में नहीं बना. (Demo pic)

ज्योतिषाचार्यों के अनुसार इस सूर्य ग्रहण के समय ग्रह और नक्षत्रों का ऐसा संयोग बनने जा रहा है जो पिछले 500 सालों में नहीं बना. (Demo pic)

रायपुर के महामाया मंदिर के पुजारी पंडित मनोज शुक्ला के मुताबिक वर्षा काल में ग्रहण लगने की वजह से इस बार अतिवृष्टि और अनावृष्टि जैसी स्थिति नहीं रहेगी और सामान्य वर्षा होगी.

  • Share this:
रायपुर. देश में जब भी खगोलीय घटना होती है तब लोगों में उत्सुकता अपने आप बढ़ जाती है. कुछ ऐसा ही 21 जून को होने वाला है जब सूर्य ग्रहण (Solar Eclipse) का नजारा लोगों को देखने को मिलेगा, लेकिन छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में ग्रहण कैसा होगा इसे लेकर खगोलशास्त्री और ज्योतिषों में अलग-अलग तर्क हैं. 21 जून को लगने वाले सूर्य ग्रहण पर देश और दुनिया की नजरें टिकी हुई है. लगातार 4 घंटे तक सूर्य ग्रहण लगने के दौरान कुछ जगहों पर तो दिन में ही शाम जैसा नजारा देखने की बात कही जा रही है 21 जून को सुबह 10 बजकर 25 मिनट से ग्रहण शुरू होगा.

देश भर के वैज्ञानिकों के साथ ज्योतिषियों की भी नजर इस ग्रहण पर है. बताया जा रहा है कि ये ग्रहण कई मायनों में खास है. रायपुर के पंडित रविशंकर यूनिवर्सिटी के एस्ट्रोफिजिक्स डिपार्टमेंट के प्रोफेसर नंदकुमार चक्रधारी ने बताया कि 21 जून से सूर्य उत्तरायण से दक्षिणायन की ओर परिभ्रमण पथ की ओर जाता है. इस दिन ठीक कर्क रेखा के उपर होता है, इसलिए दिन बड़ा होता है और रात छोटी होती है. इस दिन के बाद से ही धीरे-धीरे दिन छोटा होने लगता है और रातें बड़ी होती है. इसलिए इस दिन सूर्य ग्रहण होना बेहद खास है प्रोफेसर चक्रधारी के मुताबिक छत्तीसगढ़ में यह ग्रहण आंशिक रूप से दिखाई देगा.

ज्योतिष शास्त्रियों की राय



इधर, ज्योतिष शास्त्रियों के मुताबिक सूतक काल से लेकर देश-प्रदेश के साथ विभिन्न राशियों पर भी ग्रहण का प्रभाव होगा. रायपुर के महामाया मंदिर के पुजारी पंडित मनोज शुक्ला के मुताबिक वर्षा काल में ग्रहण लगने की वजह से इस बार अतिवृष्टि और अनावृष्टि जैसी स्थिति नहीं रहेगी और सामान्य वर्षा होगी. उन्होंने बताया कि सूर्यग्रहण का सूतक 12 घंटे पहले लग जाता है. इस सूर्यग्रहण का सूतक 20 जून को शनिवार की रात 10 बजकर 25 मिनट से आरम्भ हो जाएगा,जो कि सूर्यग्रहण ग्रहण के समाप्त होने तक रहेगा, इसलिए मंदिरों के पट शनिवार रात से बंद हो जाएंगे.

ये भी पढ़ें: जहां टूटा रिश्ता वहीं तय हुई जिगरी यार की शादी, रंजीश में दोस्त ने की बड़ी वारदात

उन्होंने बताया कि ग्रहण का हाल में इसके असर को कम करने के लिए जिन राशियों पर इसका विपरीत असर पड़ रहा है उनको ग्रहण काल के दौरान हनुमान चालीसा,महामृत्युंजय मंत्र का पाठ करना चाहिए. ग्रहण को खगोशास्त्री महज एक खगोलीय घटना ही मानते हैं, जबकि ज्योतिष विज्ञान का मानना है कि इसका असर देश-दुनिया और आम लोगों पर भी पड़ता है. लेकिन कई मायनों में ये ग्रहण खास इसलिए भी होगा क्योंकि आमतौर पर किसी भी ग्रहण से इसकी अवधि लंबी है और भारत में अन्य देशों मेंं भी लोग इसका दीदार कर सकेंगे.
पंडित मनोज शुक्ला के मुताबिक कैसा रहेगा सूर्यग्रहण का सभी राशियों पर प्रभाव?
मेष : धन की प्राप्ति

वृषभ : आर्थिक परेशानी

मिथुन : घटना-दुर्घटना

कर्क : धन हानि

सिंह : धनलाभ

कन्या : सुख

तुला : वाद-विवाद से बचें।

वृश्चिक : कष्ट

धनु : दाम्पत्य जीवन में कष्ट

मकर : सुख

कुंभ : तनाव व मानसिक परेशानी

मीन : मन से व्यथित

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज