लाइव टीवी

राज्योत्सव में शामिल होने के बहाने छत्तीसगढ़ कांग्रेस की नब्ज टटोलेंगी सोनिया गांधी

Awadhesh Mishra | News18 Chhattisgarh
Updated: October 30, 2019, 10:49 AM IST
राज्योत्सव में शामिल होने के बहाने छत्तीसगढ़ कांग्रेस की नब्ज टटोलेंगी सोनिया गांधी
पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी के आगमन से कांग्रेस को उम्मीद है कि निकाय चुनाव में बंपर जीत मिलेगी. फाइल फोटो

कांग्रेस (Congress) की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) के छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) की राजधानी रायपुर (Raipur) आगमन पर जहां एक ओर कांग्रेस उत्साहित है.

  • Share this:
रायपुर. कांग्रेस (Congress) की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) के छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) की राजधानी रायपुर (Raipur) आगमन पर जहां एक ओर कांग्रेस उत्साहित है. वहीं बीजेपी (BJP) इससे राजनीतिक तौर पर कोई फर्क नहीं पड़ने वाला दौरा करार दे रही है. सालों बाद कांग्रेस को राज्योत्सव (Rajyotsava) मनाने का मौका मिला तो सरकार ने शुभारंभ के मौके पर कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष और सांसद सोनिया गांधी को मुख्यअतिथी बनाया. राज्योत्सव के बहाने सोनिया गांधी न केवल छत्तीसगढ़ कांग्रेस की नब्ज टटोलेगी बल्कि आगामी दिनों में बेहतर कार्ययोजनाओं को लेकर आवश्यक टिप्स भी देंगी.

पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) के आगमन से कांग्रेस (Congress) को उम्मीद है कि निकाय चुनाव (Election) में बंपर जीत मिलेगी. प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता आरपी सिंह का कहना है कि राष्ट्रीय अध्यक्ष के आगमन से कार्यकर्ताओं का उत्साह बढ़ेगा और इसका लाभ आगामी नगरीय निकाय चुनाव (Urban Body Elections) में होगा. क्योंकि भूपेश बघेल (Bhupesh Baghel) सरकार के काम से प्रदेश की जनता खुश है. इसका भी सीधा लाभ निकाय चुनाव में पार्टी को मिलेगा.

'नहीं पड़ेगा फर्क'
कांग्रेस भले ही सोनिया गांधी के आगामी छत्तीसगढ़ दौरे से गदगद हो, लेकिन बीजेपी के प्रदेश प्रवक्ता सच्चिदानंद उपासने की मानें तो इस दौरे से सूबे सियासत में कोई फर्क नहीं पड़ेगा और लोकसभा चुनाव की तर्ज पर निकाय चुनाव में भी बीजेपी कांग्रेस को पस्त करेगी. तो वहीं राजनीति के जानकार बाबूलाल शर्मा का कहना है कि सोनिया गांधी के दौरे से न केवल सूबे की सियासत में फर्क पड़ेगा. बल्कि सबसे ज्यादा प्रभाव बीजेपी पर ही पड़ेगा. क्योंकि सत्ताधारी दल होने से कार्यकर्ताओं का झुकाव उनकी ओर होगा और बीजेपी संगठनात्मक तौर पर कहीं न कहीं कमजोर होगी.

ये भी पढ़ें:- नहाते समय भाजयुमो नेता इंद्रावती नदी में लापता, गोताखोरों की टीम कर रही तलाश

ये भी पढ़ें:- दो पक्षों में हो रहे विवाद को सुलझाने गए युवक पर चाकू से हमला, हालत गंभीर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रायपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 30, 2019, 10:40 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...