लाइव टीवी

सोनिया गांधी का छत्तीसगढ़ आने से इनकार, बघेल सरकार ने राज्योत्सव में चीफ गेस्ट बनने का दिया था न्योता

Ashraf Kazmi | News18 Chhattisgarh
Updated: October 31, 2019, 3:24 PM IST
सोनिया गांधी का छत्तीसगढ़ आने से इनकार, बघेल सरकार ने राज्योत्सव में चीफ गेस्ट बनने का दिया था न्योता
कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी ने छत्तीसगढ़ में आयोजित राज्योत्सव में शामिल होने से इनकार कर दिया है. (File Photo)

गुरुवार को मीडिया से चर्चा में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राज्योत्सव में सोनिया गांधी के शामिल नहीं होने के संकेत दिए. उन्होंने कहा कि सोनिया जी के दौरे का शेड्यूल अभी तय नहीं हुआ है. ऐसे में उनके आने पर संशय है.

  • Share this:
रायपुर. कांग्रेस पार्टी (Congress) की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) ने छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में आयोजित राज्योत्सव (Rajyotsava) में शामिल होने से इनकार कर दिया है. भूपेश बघेल सरकार की तरफ से उन्हें राज्योत्सव के शुभारंभ कार्यक्रम में मुख्य अतिथि (Chief Guest) के तौर पर शामिल होने के लिए न्योता दिया गया था. सोनिया गांधी ने इस न्योते को पहले स्वीकार कर लिया था, लेकिन अब उन्होंने इससे इनकार कर दिया है. सूत्रों के मुताबिक इसके पीछे उनके स्वास्थ्य कारणों का हवाला दिया गया है.

बता दें कि छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) राज्य के 20वें स्थापना दिवस पर सरकार की तरफ से तीन दिन के राज्योत्सव (Rajyotasava) का आयोजन किया जा रहा है. एक से तीन नवंबर तक रायपुर (Raipur) के साइंस कालेज मैदान में राज्योत्सव (Rajyotsava) का आयोजन किया जा रहा है. राज्योत्सव के पहले दिन शुभारंभ कार्यक्रम में सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) को मुख्य अतिथि बनाया गया था. उनके आगमन को लेकर जगह-जगह बैनर और पोस्टर भी लगाए गए थे, लेकिन अब स्वास्थ्यगत कारणों से उनका दौरान रद्द हो गया है.

सीएम ने दिए थे संकेत
गुरुवार को रायपुर में मीडिया से चर्चा में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राज्योत्सव में सोनिया गांधी के शामिल नहीं होने के संकेत दिए. सीएम भूपेश ने कहा कि सोनिया जी के दौरे का शेड्यूल अभी तय नहीं हुआ है. ऐसे में उनके आने पर संशय है. बता दें कि इस वर्ष राज्योत्सव में छत्तीसगढ़ी संस्कृति (Chhattisgarhi Culture) की छटा बिखरेगी. राज्योत्सव के तीनों दिन छत्तीसगढ़ के लोकप्रिय शास्त्रीय नृत्य, वादन, गायन के साथ गीत-गजल एवं संगीत की भी प्रस्तुति होगी. कार्यक्रम में पंडवानी गायन, पारंपरिक नृत्य पंथी, गेड़ी, गौरी-गौरा, राउत नाचा, करमा, सैला, गौर, ककसाड़, धुरवा, सुआ नृत्य, सरहुल नृत्य, सैला नृत्य, राउत नाच, और ककसार नृत्य का प्रदर्शन किया जाएगा.

ये भी पढ़ें: मुंगेली: पत्नी की हत्या कर भाग रहा मुस्लिम युवक चढ़ा भीड़ के हत्थे, मॉब लिंचिंग से मौत 

राज्य स्थापना दिवस: तीन दिनों तक बिखरेगी छत्तीसगढ़ी संस्कृति की छटा, जानें कब क्या होगा? 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रायपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 31, 2019, 2:07 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...