विधानसभा का विशेष सत्र: डेंगू से मरने वालों को सदन में श्रद्धांजलि देने की मांग

पूर्व प्रधामंत्री सहित अन्य नेताओं को श्रद्धांजलि देने के बाद सदन में प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष भूपेश बघेल ने अपनी मांग रखी.

Surendra Singh | News18 Chhattisgarh
Updated: September 11, 2018, 11:59 AM IST
विधानसभा का विशेष सत्र: डेंगू से मरने वालों को सदन में श्रद्धांजलि देने की मांग
छत्तीसगढ़ विधानसभा
Surendra Singh | News18 Chhattisgarh
Updated: September 11, 2018, 11:59 AM IST
छत्तीसगढ़ विधानसभा के दो दिवसीय विशेष सत्र की शुरुआत मंगलवार को हुई. सत्र के पहले दिन दिवंगत छत्तीसगढ़ के राज्यपाल बलरामदास जी टंडन, पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी, पूर्व लोकसभा अध्यक्ष सोमनाथ चटर्जी और छत्तीसगढ़ के पूर्व वित्त मंत्री रामचन्द्र सिंहदेव को श्रद्धांजलि दी गई. विधानसभा अध्यक्ष गौरीशंकर अग्रवाल ने सदन में उक्त दिवंगत नेताओं का उल्लेख किया.

पूर्व प्रधामंत्री सहित अन्य नेताओं को श्रद्धांजलि देने के बाद सदन में प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष भूपेश बघेल ने अपनी मांग रखी. पीसीसी अध्यक्ष भूपेश ने कहा कि प्रदेश में डेंगू की बीमारी से 38 से अधिक लोगों की मौत हो गई है. उन सभी लोगो को भी सदन में दी श्रद्धांजलि दी जाए. वरिष्ठ विधायक सत्यनारायण शर्मा ने भी प्रदेश में डेंगू से हो रही मौतों को सदन में उठाया. बता दें कि अनुपूरक बजट को लेकर 11 व 12 सितंबर को विशेष सत्र बुलाया गया है.

गौरतलब है कि बीते जुलाई माह से प्रदेश में डेंगू का प्रकोप है. सबसे अधिक दुर्ग जिले के भिलाई में डेंगू का प्रभाव है. भिलाई में डेंगू से मरने वालों की संख्या 40 पार हो गई है. इसके अलावा पांच सौ से अधिक लोग पीड़ित हैं. भिलाई के अलावा दुर्ग जिले के चरोदा, भिलाई तीन और दुर्ग शहर में भी डेंगू ने दर्जनों लोगों को अपनी चपेट में लिया है. दुर्ग के अलावा बिलासपुर, जगदलपुर, रायपुर व अन्य जिलों में भी डेंगू के मरीज मिल रहे हैं.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर