लाइव टीवी

आदिवासियों के सामने झुकी सरकार, वापस होगा भू-राजस्व संहिता संसोधन विधेयक
Raipur News in Hindi

निलेश त्रिपाठी | News18Hindi
Updated: January 11, 2018, 6:38 PM IST
आदिवासियों के सामने झुकी सरकार, वापस होगा भू-राजस्व संहिता संसोधन विधेयक
पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह. फाइल फोटो.

छत्तीसगढ़ सरकार ने गुरुवार को कैबिनेट की बैठक में अहम फैसला लिया है. सरकार ने भू-राजस्व सहिंता संसोधन विधेयक वापस लेने का निर्णय लिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 11, 2018, 6:38 PM IST
  • Share this:
छत्तीसगढ़ सरकार ने गुरुवार को कैबिनेट की बैठक में अहम फैसला लिया है. सरकार ने भू-राजस्व संहिता संसोधन विधेयक वापस लेने का निर्णय लिया है. आदिवासियों के भारी विरोध के चलते सरकार को झुकना पड़ा है.

कैबिनेट की बैठक से पहले सर्व आदिवासी समाज ने मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह से मुलाकात कर इसे वापस लेने की मांग की थी. इस मांग को सरकार ने मांग लिया है. सीएम से मिलने के लिए राज्य अनुसूचित जनजाति आयोग के अध्यक्ष जे आर राणा भी साथ गए थे. सिद्धनाथ पैकरा ने भू-राजस्व संहिता संशोधन विधेयक पर कहा कि बिल पर पुनर्विचार करने की मांग की है. ‎विपक्ष इस बिल को लेकर भ्रम की स्थिति फैला रहा है.

बता दें कि भू-राजस्व संहिता संसोधन विधेयक विधानसभा के इस शीतकालीन सत्र में पास किया गया था
. इसके बाद से ही प्रदेश में भाजपा सरकार घिरती नजर आ रही थी. विपक्षी दल कांग्रेस ने इस मुद्दे को हाथों—हाथ लिया और विरोध शुरू कर दिया. सर्व आदिवासी समाज ने भी इस विधेयक का खुलकर विरोध शुरू कर दिया था. चुनावी साल में सरकार पर ये फैसला भारी पड़ सकता था. माना जा रहा है कि इसलिए सरकार ने अपने कदम वापस खींच लिए.



गौरतलब है कि शीतकालीन सत्र में छत्तीसगढ़ भू-राजस्व संहिता संशोधन विधेयक को लेकर मत विभाजन भी हुआ था. कांग्रेस ने संशोधन विधेयक के खिलाफ वोटिंग की थी, लेकिन सरकार ने संख्याबल के आधार पर इसे पारित करा लिया था. इसके बाद से कांग्रेस ने इसे बड़ा मुद्दा बना लिया था. वहीं सर्व आदिवासी समाज भी इसके खिलाफ था. बीजेपी अनुसूचित जनजाति मोर्चा के पदाधिकारियों ने भी सरकार के सामने ये आशंका जताई थी कि संशोधन विधेयक अगर वापस नहीं लिया गया तो आदिवासी इलाके में बीजेपी के लिए जीतना मुश्किल हो जाएगा.



विधयेक वापिस लेने के मामले पर पूर्व केंद्रीय मंत्री अरविंद नेताम ने बयान जारी किया है. नेताम ने कहा कि चुनावी साल होने के चलते घबराहट में सरकार ने विधेयक वापिस लिया है. आदिवासी समाज की आवाज रंग लाई.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रायपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 11, 2018, 6:15 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading