Chhattisgarh: किसान आंदोल खत्म करने की साजिश हो रही है- बघेल

सीएम भूपेश बघेल ने किसानों को बदनाम करने का आरोप लगाया है..  (File)

सीएम भूपेश बघेल ने किसानों को बदनाम करने का आरोप लगाया है.. (File)

बघेल ने कहा कि किसानों की मांगे जायज हैं. वे दो महीने से विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं, सरकार उनकी बात मान सकती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 29, 2021, 5:22 PM IST
  • Share this:
रायपुर. प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि किसानों के आंदोलन को खत्म करने की साजिश की जा रही है. किसानों को बदनाम किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि किसानों की मांगे जायज हैं. वे दो महीने से विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं, सरकार उनकी बात मान सकती है. बघेल ने ट्वीट कर कहा कि केंद्र सरकार को छत्तीसगढ़ मॉडल अपनान चाहिए, कोई किसान विरोध नहीं करेगा.

बता दें, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने हाल ही में RSS को भी घेरा था. उन्होंने कहा था कि RSS के समर्थक पैर छूकर गोली मार देते हैं. महात्मा गांधी की हत्या कैसे किया गया था? पहले पैर छुए फिर उनके सीने में गोली मारी. सीएम बघेल ने कांग्रेस सांसद दीपक बैज के बयान के संदर्भ में कहा था कि अगर बैज ने बयान दिया है तो निश्चित रूप से RSS खतरनाक है.

Youtube Video


दीपक बैज ने दिया था ये बयान
गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ द्वारा राज्य नेतृत्व में बदलाव के बाद कांग्रेस आरएसएस पर हमलावार है. बस्तर सांसद (Bastar MP) और कांग्रेस नेता दीपक बैज (Deepak Baij) ने आरएसएस के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. सांसद बैज ने आरएसएस को नक्सलिलयों से भी खरनाक बताया है. उन्‍होंने कहा कि कहा कि बस्तर में पुल, सड़क और कैंप खोले जाने के विरोध के पीछे भाजपा और आरएसएस का हाथ है. बीजेपी की कई शाखाएं हैं, जिसमें से एक आरएसएस ऐसी शाखा है जो नक्सलियों से भी ज्यादा खतरनाक है.

'भाजपा झूठ फैलाती है'

सीएम भूपेश बघेल ने कहा कि भाजपा झूठ फैलाती है. इन लोगों ने 1 दिन में पूरे हिंदुस्तान के गरीब ब्राह्मणों को दूध पिला दिया. यह लोग झूठ फैलाने में माहिर हैं. पूरे देश में अफवाह के कारण से यह स्थिति निर्मित हुई थी. आरएसएस में नेतृत्व परिवर्तन को लेकर सीएम भूपेश बघेल ने कहा कि छत्तीसगढ़ के आरएसएस कार्यकर्ता नागपुर के बंधुआ मजदूर हैं. बिसराराम जी छत्तीसगढ़ के स्थानीय व्यक्ति थे. छत्तीसगढ़िया व्यक्ति को हटा कर नागपुर से जुड़े लोगों को जिम्मेदारी दी गई. छत्तीसगढ़ के लोग आरएसएस में अफवाह फैलाने का माध्यम बनकर रह गए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज