BJP प्रवक्ता संबित पात्रा को रायपुर पुलिस ने भेजा तीसरा नोटिस, 8 जून को पेश होने कहा

संबित पात्रा को अस्पताल से मिली छुट्टी. (File Photo)
संबित पात्रा को अस्पताल से मिली छुट्टी. (File Photo)

आरोप है कि 10 मई को भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने अपने ट्विटर अकाउंट से 1984 के सिख विरोधी दंगों और पूर्व प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू और राजीव गांधी को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी किया था.

  • Share this:
रायपुर. भाजपा (BJP) के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा (Sambit Patra) की मुश्किलें बढ़ सकती हैं. राजधानी रायपुर पुलिस (Raipur Police) ने नोटिस जारी कर 8 जून को उपस्थित होने के निर्देश दिए हैं. संबित पात्रा को सिविल लाइन पुलिस ने तीसरी बार यह नोटिस (Notice) जारी किया है. मालूम हो कि संबित पात्रा के खिलाफ सिविल लाइन थाने में एनएसयूआई के प्रदेश अध्यक्ष आकाश शर्मा और यूथ कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष पूर्ण चंद्र पाढ़ी ने शिकायत दर्ज कराई थी. आरोप है कि 10 मई को भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने अपने ट्विटर अकाउंट से 1984 के सिख विरोधी दंगों और पूर्व प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू और राजीव गांधी को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी (Offensive Comment) किया था.

शिकायत में कहा गया था कि जब किसी भी मामले में पूर्व प्रधानमंत्री को अदालत द्वारा दोषी नहीं ठहराया गया था तो ऐसे में जानबूझकर कोरोना संकट के समय में तरह की बातें बीजेपी प्रवक्ता द्वारा फैलाई जा रही है. इस बात की शिकायत लिखित में सिविल लाइन थाने में की थी जिसके आधार पर सिविल लाइन पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया था. मामले की जांच के लिए संबित पात्रा को सबसे पहले 19 मई को सिविल लाइन थाने में उपस्थित होने के लिए कहा था, लेकिन 19 मई को संबित पात्रा के उपस्थित नहीं होने पर 2 जून की तारीख दी गई थी. फिर 2 जून को भी संबित उपस्थित नहीं हुए. अब तीसरा नोटिस 8 जून के लिए दिया गया है.

हो सकती है कार्रवाई



सिविल लाइन सीएसपी नसर सिद्दीकी का कहना है कि संबित पात्रा को तीन बार नोटिस दी जा चुकी है लेकिन अब तक वे न तो उपस्थित हुए हैं और ना ही कोई जवाब आया है. अगर 8 जून को भी पेश नहीं होते हैं तो एक बार और नोटिस भेज सकते हैं. उसके बाद भी अगर वे पेश नहीं होंगे तो इस मामले में विधिक अभिमत लेकर एक पक्षीय कार्रवाई भी उनके खिलाफ की जा सकती है. वहीं इस मामले में गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू का कहना है कि संबित पात्रा के खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए.

ये भी पढ़ें: 

छत्तीसगढ़ में BJP ने 'नए चेहरे' पर क्यों लगाया दांव? मिशन 2023 पर नजर या कुछ और, पढ़ें रिपोर्ट 
Unlock 1 में लापरवाह हुआ 'हॉटस्पॉट' कोरबा, कहीं थूकते तो कहीं धुएं का छल्ला बनाते दिखे लोग
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज