लाइव टीवी
Elec-widget

छत्तीसगढ़ में बिक रहा है जहरीले एफ्लाटॉक्सिन एम-1 मिला दूध, FSSAI की रिपोर्ट में खुलासा

Mamta Lanjewar | News18 Chhattisgarh
Updated: November 24, 2019, 10:43 AM IST
छत्तीसगढ़ में बिक रहा है जहरीले एफ्लाटॉक्सिन एम-1 मिला दूध, FSSAI की रिपोर्ट में खुलासा
छत्तीसगढ़ में जहरीले एफ्लाटॉक्सिन एम-1 मिला दूध बिक रहा है. सांकेतिक फोटो.

एफएसएसएआई (FSSAI) ने छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के 16 शहरों से 2018 में जून से दिसंबर के बीच दूध (Milk) के 84 सैंपल लिए थे.

  • Share this:
रायपुर. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में जहरीले एफ्लाटॉक्सिन एम-1 मिला दूध (Milk) बिक रहा है. फूड सेफ्टी स्टैंडर्ड अथॉरिटी ऑफ इंडिया (FSSAI) की जांच रिपोर्ट में ये खुलासा हुआ है. एफएसएसएआई ने प्रदेश के 16 शहरों से 2018 में जून से दिसंबर के बीच दूध के 84 सैंपल लिए थे. उनकी जांच में 15 सैंपल अमनाक निकले हैं, इनमें से पांच में एफ्लाटॉक्सिन एम-1 पाया गया, जो सैंपल अमानक मिले हैं, उनमें से कुछ में एंटीबायोटिक भी मानक से ज्यादा पाया गया. इसमें छत्तीसगढ़ भी शामिल है.

दरअसल एफएसएसएआई (FSSAI) ने इस परीक्षण के लिए देश के 50 हजार से ज्यादा जनसंख्या वाले 1103 शहरों से दूध (Milk) के 6432 सैंपल लिए थे. इसमें 42 फीसदी फेल हो गए. इन सैंपलों में ब्रांडेड डिब्बाबंद, पैकेट वाले तथा खुली डेयरियों का दूध है. अथॉरिटी की रिपोर्ट में यह खुलासा नहीं किया कि प्रदेश के जिन सैंपलों में टॉक्सिन है, वे किस शहर के हैंत्र डॉक्टरों के अनुसार एफ्लाटॉक्सिन एम-1 मिला दूध पीने वालों का लिवर डैमेज होने का खतरा बहुत अधिक रहता है.

जानें कैसे बनता है एफ्लाटॉक्सिन एम-1
मिली जानकारी के मुताबिक एफ्लाटॉक्सिन एम-1 एस्पर्जिलस फ्लैक्स नामक फफूंद स्टोर किए गए अनाज, मूंगफली, मक्खन या पशुओं को खिलाए जाने वाले चारे पर होती है. इससे एफ्लाटॉक्सिन पैदा होता है. पशु जब फफूंद वाली सामग्री खाते हैं तो वह पेट में चली जाती है. फिर यह दूध में भी मिक्स हो जाती है. मवेशियों को बीमारी से बचाने के लिए विशेषज्ञों की सलाह लिए बिना कई लोग एंटीबायोटिक खिला देते हैं. यह भी दूध में घुल जाता है जो हमारे शरीर के लिए खतरनाक है.

छत्तीसगढ़ में यहां से लिए गए सैंपल
छत्तीसगढ़ में दूध के 84 सैंपल लिए गए. इनमें से 5 में एफ्लाटॉक्सिन एम-1 पाये गए हैं. प्रदेश में रायपुर, कोरबा, दुर्ग, बिलासपुर, रायगढ़, अंबिकापुर, धमतरी, भिलाई-चरोदा, बिरगांव, चिरमिरी, राजनांदगांव, भाटापारा, जगदलपुर व महासमुंद से सैंपल लिए गए. एफ्लाटॉक्सिन से कैंसर का खतरा होता है. छोटे बच्चों में ये रोग प्रतिरोधक क्षमता कम कर देता है एफ्लाटॉक्सिन एम-1 लिवर के लिए खतरनाक है. ऐसे दूध का सेवन करने से लिवर सिरोसिस भी हो सकता है.

ये भी पढ़ें: 
Loading...

पति की आंखों में डाला मिर्च पाउडर, पत्नी को भगा ले गया पूर्व प्रेमी, जानें- पूरा मामला

छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस के बंद टॉयलेट में मिली युवक की लाश, GRP कर रही जांच 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रायपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 24, 2019, 10:43 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...