Home /News /chhattisgarh /

जीएसटी के प्रावधानों के खिलाफ छत्‍तीसगढ़ बंद शत-प्रतिशत सफल रहने का दावा

जीएसटी के प्रावधानों के खिलाफ छत्‍तीसगढ़ बंद शत-प्रतिशत सफल रहने का दावा

न्‍यूज़18/ईटीवी से चर्चा करते हुए चेम्‍बर ऑफ कॉमर्स के प्रदेश अध्‍यक्ष अमर परवानी.

न्‍यूज़18/ईटीवी से चर्चा करते हुए चेम्‍बर ऑफ कॉमर्स के प्रदेश अध्‍यक्ष अमर परवानी.

वस्‍तु एवं सेवा कर (जीएसटी) के प्रावधानों को सरल करने की मांग को पूरे छत्‍तीसगढ़ में व्यापारियों ने अपने प्रतिष्ठानों को बंद रखा.

    वस्‍तु एवं सेवा कर  (जीएसटी) के प्रावधानों को सरल करने की मांग को पूरे छत्‍तीसगढ़ में  व्यापारियों ने अपने प्रतिष्ठानों को बंद रखा.

    छत्तीसगढ़ चेंबर ऑफ कॉमर्स ने जीएसटी के प्रावधानों को लेकर शुक्रवार को प्रदेश बंद का आह्वान किया था. चेंबर का दावा है कि बंद शत-प्रतिशत सफल रहा है.

    छत्तीसगढ़ चेंबर ऑफ कॉमर्स के प्रदेश अध्यक्ष अमर परवानी ने न्‍यूज़18/ईटीवी से खास बातचीत में कहा कि हमारा विरोध जीएसटी से नहीं, उसके प्रावधानों से है. हम उन्‍हें सरल करने की मांग कर रहे हैं. उन्‍होंने कहा कि प्रदेश में व्यापारियों के एक दिन के बंद से करीब 1000 करोड़ रुपए का नुकसान अपने व्यवसाय में उठाना पड़ेगा.

    उन्‍होंने कहा कि हम इस मांग को लेकर शांतिपूर्ण विरोध कर रहे हैं. प्रदेश में सभी व्‍यापारियों ने अपने प्रतिष्‍ठान बंद रखे हैं. बंद में इस बात का ध्‍यान रखा गया है कि इससे आम जनता को कोई तकलीफ न हो. इसलिए स्‍कूल-कॉलेज, पेट्रोल पंप, दूध-सब्‍जी, अस्‍पताल, दवा दुकानों को इस बंद में शामिल नहीं किया गया है. यह सांकेतिक बंद है. उन्‍होंने उम्‍मीद जताई कि सरकार इसके प्रावधानों को सरल करेगी.

    परवानी ने कहा कि हमेशा व्‍यापारी दूसरों के लिए बंद करते आए हैं. पहली बार वे खुद के लिए बंद कर रहे हैं. उन्‍होंने कहा कि रायपुर के साथ ही प्रदेशभर से जो खबरें मिल रही हैं, उनके अनुसार व्‍यापारी पूरी तरह बंद में शामिल हैं. एक प्रतिशत दुकानें भी खुली रहने की संभावना नहीं है.

    Tags: Goods and Service Tax

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर