Union Budget 2020: बजट से नाखुश हुई रायपुर की जनता, कहा- उम्मीद पर खरी नहीं उतरी सरकार
Raipur News in Hindi

Union Budget 2020: बजट से नाखुश हुई रायपुर की जनता, कहा- उम्मीद पर खरी नहीं उतरी सरकार
केंद्रीय बजट पर रायपुर की राय.

रायपुर की जनता का कहना है कि बजट में पावर सेक्टर और रेलवे को मजबूत करने पर फोकस किया गया, जो अच्छी बात है, लेकिन मध्यम वर्ग को बजट से मायूसी हाथ लगी है.

  • Share this:
रायपुर. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने मोदी सरकार 2.0 का दूसरा बजट (Budget 2020) शनिवार को सदन में पेश किया. बजट में वित्त मंत्री ने कई बड़ी घोषणाएं की. बजट में टैक्स पेयर्स और वर्किंग सेक्टर के लोगों के लिए एक बड़ा ऐलान किया. सरकार ने इनकम टैक्स स्लैब (Income Tax Slabs) को पांच हिस्सों में बांटा दिया है. नए बदलाव के बाद अब पांच लाख रुपए तक की इनकम पर कोई टैक्स नहीं लगेगा. वहीं, 15 लाख रुपए की आमदनी पर 25 फीसदी टैक्स लगेगा. अभी तक 15 लाख रुपए की कमाई पर 30 फीसदी टैक्स लगता है. अब सरकार के इस फैसले पर मिली जुली प्रतिक्रियां मिल रही है. रायपुर (Raipur) की जनता ने भी मोदी सरकार के इस बजट पर अपना रिएक्शन दे किया है.

रायपुर की जनता की राय

बजट पर चर्चा करते हुए राजधानी रायपुर के शकील साजिद का कहना है कि हम वेतनभोगी वर्ग से आते हैं. पहले भी हम इनकम टैक्स में छूट चाहते थे. पहले भी सरकार ने ज्यादा राहत नहीं दी थी. अभी भी सरकार ने कुछ खास छूट नहीं दी है. बस टैक्स के स्लैब को डिवाइड कर दिया है. वेतनभोगी वर्ग इस बजट से काफी नाराज है. लोगों को कुछ खास छूट नहीं दी गई है. तो वहीं मो. तारीख का कहना है कि बजट में पावर सेक्टर और रेलवे को मजबूत पर खासा फोकस किया गया, जो काफी अच्छी बात है. लेकिन मध्यम वर्ग को बजट से मायूसी ही हाथ लगी है. तो वहीं गृहणी आरजू गर्ग और शद्धा शर्मा का कहना है कि महिलाओं को बजट से काफी उम्मीदें थी, लेकिन बजट में ऐसा कुछ हुआ नहीं. महिला को बजट में कुछ खास राहत नहीं दी गई है.



निर्मला सीतारमण देश की पहली पूर्णकालिक महिला वित्तमंत्री हैं.

कांग्रेस ने बताया खोखला 

केंद्रीय बजट पर मंत्री अमरजीत भगत का कहना है कि केंद्रीय बजट खोखला और हवाहवाई है. उन्होंने कहा कि देश के सर्वाधिक जनसंख्या वाले युवाओं के लिए  बजट में कुछ नहीं है. ये बजट केवल कुछ लोगों को लाभ पहुंचाने वाला है. तो वहीं सीएम भूपेश बघेल ने भी पहले ही कह चुके हैं कि उन्हें केंद्रीय बजट से कुछ खास उम्मीद नहीं है.

ये भी पढ़ें:

पंचायत चुनाव में अनोखा मामला: दोनों सरपंच पद प्रत्याशी को मिले बराबर वोट, अब ऐसे होगा फैसला

मुखबिरी के शक में नक्सलियों ने की ग्रामीण की हत्या, घर से निकालकर रेत दिया गला 

VIDEO: नागरिकता कानून पर CM भूपेश बघेल के तीखे तेवर, दिया ये बड़ा बयान 

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज