कब्र में गड़े मुर्दे भी उखाड़ कर खा जाता है यह जानवर, देखें रोंगटे खड़ा करने वाला VIDEO

(सांकेतिक तस्वीर)
(सांकेतिक तस्वीर)

नोवा नेचर के अविनाश मौर्या ने कहा कि कबर बिज्जू सर्वाहारी होता है. जिसका मुख्य भोजन फल कंद मूल के साथ साथ छोटे कीट पतंगे भी होते हैं. निशाचरी होने के कारण माना जाता है कि यह कब्रों को खोदकर खा जाता है.

  • Share this:
रायपुर. छत्तीसगढ़ में कोरोनाकाल के समय लागू लॉकडाउन में खतरनाक जानवरों का दिखना काफी चर्चा में रहा. इसमें सबसे ज्यादा खौफ कबर बिज्जू नाम का जानवर का रहा. हाल ही में भिलाई-3 के विदयुत सब स्टेशन में भी कबर बिज्जू को देखा गया. जिसके बाद वहां हड़कंप मच गया. वहां मौजूद कर्मचारियों के जेहन में कबर बिज्जू की कब्र में से शवों को निकालकर खा जाने की कहानी घूमने लगी. यही वजह थी कि कबर बिज्जू दिखने की दहशत से कर्मचारियों ने काम करना बंद कर दिया. अधिकारियों को जानकारी मिलने के बाद वन विभाग को सूचना दी गई. जिसके बाद नोवा नेचर संस्था के अविनाश मौर्य के द्वारा कबर बिज्जू का रेस्क्यू कर उसे सुरक्षित पकड़ा गया.

नोवा नेचर के अविनाश मौर्या के अनुसार बिल्ली के आकार के दिखने वाले कबर बिज्जू को एशियन पाम सिविट भी कहा जाता है. इनका कहना है कि कबर बिज्जू सर्वाहारी होता है. जिसका मुख्य भोजन फल कंद मूल के साथ साथ छोटे कीट पतंगे भी होते हैं. निशाचरी होने के कारण माना जाता है कि यह कब्रों को खोदकर खा जाता है.





हाल ही में राजस्थान के अलवर में सामान्य चिकित्सालय के जीएमटीसी प्रक्षिक्षण केंद्र में कबर बिज्जू के घुसने से प्रक्षिक्षण ले रहे नर्सिंग छात्र और छात्राओं में हड़कंप मच गया. नर्सिंग छात्र छात्राएं अपना प्रक्षिक्षण छोड़कर कमरे से बाहर आ गए. कबर बिज्जू कमरे की अलमारी में बैठा हुआ था. नर्सिंग अधीक्षक ने इसकी सूचना वन विभाग की रेस्क्यू टीम को दी. उसके बाद रेस्क्यू टीम मौके पर पहुंची और कबर बिज्जू को पकड़ लिया. वन विभाग की टीम कबर बिज्जू को पकड़ कर अपने साथ ले गई और उसे जंगल में छोड़ दिया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज