• Home
  • »
  • News
  • »
  • chhattisgarh
  • »
  • छत्तीसगढ़ में फिर बदलेगा मौसम, इन जिलों में ओलावृष्टि और बारिश की आशंका

छत्तीसगढ़ में फिर बदलेगा मौसम, इन जिलों में ओलावृष्टि और बारिश की आशंका

मौसम विभाग ने बारिश की संभावना जताई है. (FILE PHOTO)

मौसम विभाग ने बारिश की संभावना जताई है. (FILE PHOTO)

मौसम विज्ञान केन्द्र रायपुर के मौसम विज्ञानी आरके वैश्य का ने न्यूज़ 18 को बताया कि बुधवार को गरज-चमक के साथ हल्की बूंदाबांदी होगी जबकि गुरुवार से जब मौसम बदलेगा तब उत्तरी छत्तीसगढ़ में ओलावृष्टि (Hailstorm) की आशंका है.

  • Share this:
रायपुर. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में मौसम विभाग (Weather Department) ने अगले 48 घंटे के भीतर बारिश के साथ ओले गिरने की आशंका जताई है. दक्षिण-पश्चिम राजस्थान (Rajasthan) और उत्तरी छत्तीसगढ़ के बीच बने सिस्टम की वजह से प्रदेश के मौसम में फिर एक बार बड़ा बदलाव आने वाला है. मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि आने वाले दिनों में बारिश और ओले गिरने की संभावना है जिससे प्रदेश का उत्तरी हिस्सा यानि सरगुजा संभाग सबसे ज्यादा प्रभावित रहेगा. आपको बता दें कि पिछले दो दिनों से राजधानी रायपुर (Raipur) में भी धूप-छांव जैसी स्थिति बन रही है साथ ही हल्की बूंदाबांदी भी हो रही है लेकिन सरगुजा संभाग के बलरामपुर (Balrampur), सूरजपुर (Surajpur) और कोरिया (Koriya) जिले में तेज आंधी के साथ बारिश (Rainfall) भी हुई है और आने वाले दो दिनों में भी इसी तरह के हालात रहेंगे.

मौसम विज्ञान केन्द्र रायपुर के मौसम विज्ञानी आरके वैश्य का ने न्यूज़ 18 को बताया कि बुधवार को गरज-चमक के साथ हल्की बूंदाबांदी होगी जबकि गुरुवार से जब मौसम बदलेगा तब उत्तरी छत्तीसगढ़ में ओलावृष्टि (Hailstorm) की आशंका है.

उत्तरी छत्तीसगढ़ में ओलावृष्टि (Hailstorm) की आशंका है.


किसानों को हो चुका है नुकसान

आपको बता दें कि पिछले दिनों हुई ओलावृष्टि से किसानों को काफी नुकसान हुआ था. रबी की फसलें बरबाद हो गई थी जिसके बाद किसानों ने सरकार से मुआवज़ा मांगा था. 153 करोड़ रुपये सरकार ने जारी भी किया था. सभी जिला कलेक्टरों को सप्ताह भर के भीतर नुकसान के आधार पर मुआवज़ा बांटने के लिए भी कहा गया था लेकिन शिकायत ये भी मिली थी कि सभी कलेक्टर्स ये रिपोर्ट नहीं भेज पाये हैं और ज्यादातर किसानों को मुआवज़ा भी नहीं मिला है. ऐसे में फिर एक बार बारिश और ओलावृष्टि से किसानों की बचीखुची फसल भी बरबाद हो सकती है. बड़ी बात ये है कि बार-बार रूक-रूककर हो रही बारिश की स्थिति की वजह से कलेक्टर्स भी नुकसान का सही आंकलन नहीं लगा पा रहे है. ऐसे में बारिश का सबसे ज्यादा नुकसान हर तरफ से किसानों को ही हो रहा है.

ये भी पढ़ें: 

लोकसभा चुनाव की तर्ज पर नया प्रदेश अध्यक्ष चुन सकती है BJP, नए चेहरे को मिलेगा मौका! 



MP की हलचल में छत्तीसगढ़ का तड़का, जोगी पिता-पुत्र ने सियासी आग में डाला 'घी' 



MP के सियासी संग्राम पर CM भूपेश बघेल बोले- अभी कमलनाथ का 'पत्ता' खुलना बाकी है!

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज