Home /News /chhattisgarh /

why naxalism became political flash point in chhattisgarh bhupesh baghel vs raman singh

नक्सली खात्मे पर छत्तीसगढ़ में क्यों तेज हुई सियासत?

छत्तीसगढ़ का बस्तर और नक्सलवाद की समस्या हमेशा से चर्चाओं के केंद्र बिन्दु में रहता है.

छत्तीसगढ़ का बस्तर और नक्सलवाद की समस्या हमेशा से चर्चाओं के केंद्र बिन्दु में रहता है.

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने हाल ही में कहा था कि नक्सलियों को संविधान पर विश्वास करना चाहिए और मैं समाधान के लिए वे जहां कहेंगे वहां आ जाउंगा. अब इस बयान पर बीजेपी तंज कस रही है. मुख्यमंत्री के बयान के बाद मुख्य विपक्षी दल बीजेपी ने सरकार को फेल करार दिया है. पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने बस्तर की जिस सड़क पर सीएम चल रहे हैं वह बीजेपी की देन है. कांग्रेस सरकार में बस्तर का इंफ्राट्रक्चर जीरो हो चुका है.

अधिक पढ़ें ...

रायपुर. छत्तीसगढ़ का बस्तर और नक्सलवाद की समस्या हमेशा से चर्चाओं के केंद्र बिन्दु में रहता है. ताजा मामला मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के उस बयान का है जिसमें सीएम ने कहा था कि नक्सली संविधान पर विश्वास और मैं समाधान के लिए कहीं भी आकर बात करने के लिए तैयार हूं. मुख्यमंत्री के इस बयान पर बीजेपी ने प्रहार किया है. राज्य विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा कि यह सरकार नक्सलियों के सामने घूटने टेक चुकी है. साढ़ी तीन साल बीत जाने के बाद नक्सली फ्रंट पर सरकार पूरी तरह से विफल है. हालात यह हैं कि आज नक्सली लगातार वारदात को अंजाम दे रहे हैं. सरकार इस समस्या पर खुल कर बात नहीं करती.. सरकार हमेशा दाएं-बाएं देखती है.

मुख्यमंत्री के बयान के बाद ऐसा नहीं है कि केवल नेता प्रतिपक्ष ने ही तंज कसा हो और सरकार को फेल करार दिया है. मामले को लेकर जब पूर्व मुख्यमंत्री से सवाल किया गया तो डॉ रमन सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री बस्तर से बहुत दूर हो चुके हैं. वह साढ़े तीन साल बाद पहली बार बस्तर गए हैं. जिस बस्तर में अधिकतर जाना था, सीएम खुद कह रहे हैं कि मैं पहली बार आया हूं मांग लो जो मांगना है. वहीं यह भी कहा कि बस्तर की जिस सड़क पर सीएम चल रहे हैं वह बीजेपी की देन है. कांग्रेस सरकार में बस्तर का इंफ्राट्रक्चर जीरो हो चुका है.

छत्तीसगढ़ में नक्सलवाद एक ऐसा नासूर और सिस्टम के चेहरे पर दाग है जो धोए नहीं धुल रहा है. कोशिशों के अंबार तले सरकार की बयानबाजियों हमेशा बुलंद रहती है लेकिन तभी नक्सलियों की धमक सुनाई देने लगती है. बहरहाल देखना होगा इस बेहद ही गंभीर समस्या का समाधान कब होता है.

Tags: Bhupesh Baghel, Raipur news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर