छत्तीसगढ़ में येलो अलर्ट जारी, अगले 24 घंटों में इन इलाकों में हो सकती है भारी बारिश

Yugal Tiwari | News18 Chhattisgarh
Updated: August 23, 2019, 6:11 PM IST
छत्तीसगढ़ में येलो अलर्ट जारी, अगले 24 घंटों में इन इलाकों में हो सकती है भारी बारिश
मौसम विभाग के मुताबिक अगले दो दिनों में छत्तीसगढ़ के कुछ इलाकों में बौछारें (Shower of Rain) पड़ने की संभावना है.

वेदर डिपार्टमेंट (Weather department) के पूर्वानुमान के मुताबिक उत्तर छत्तीसगढ़(Chhattisgarh) के साथ-साथ दक्षिण बस्तर(Bastar) के कई जिलों में बारिश को लेकर मौसम विभाग ने अलर्ट(Alert) जारी कर दिया है.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के कई हिस्सों में अगले 24 घंटों के भीतर जमकर बारिश(Rainfall) हो सकती है.  बारिश को देखते हुए मौसम विभाग (Weather department) ) ने येलो अलर्ट (Yellow Alert) जारी कर दिया है. वेदर डिपार्टमेंट के पूर्वानुमान के मुताबिक उत्तर छत्तीसगढ़ के साथ-साथ दक्षिण बस्तर (Bastar) के कई जिलों में बारिश को लेकर मौसम विभाग ने अलर्ट जारी कर दिया है. वहीं गुरुवार को सुबह से दोपहर तक हल्की धूप की वजह से तापमान (Temperature) में थोड़ा इजाफा हुआ. हवा में थोड़ी नमी रही लेकिन शाम को बादल घिरे और कुछ इलाकों में बारिश हुई. मिली जानकारी के मुताबिक बारिश की वजह से तापमान में 4 डिग्री की गिरावट आई. मौसम विभाग के मुताबिक अगले दो दिनों में छत्तीसगढ़ के कुछ इलाकों में बौछारें (Shower of Rain) पड़ने की संभावना है.

 मौसम विभाग ने जारी किया ये पूर्वानुमान:

मौसम विभाग के मुताबिक अगले 24 घंटे में बस्तर संभाग में मध्यम से भारी और कुछ स्थानों पर अतिभारी बारिश (Heavy Rain) हो सकती है. बीते 48 घंटे से सूबे में मानसून की गतिविधि सक्रिय है. चक्रवात, द्रोणिका का प्रभाव लगातार बना हुआ है. मौसम वैज्ञानिक के मुताबिक सरगुजा,कोरिया,रायगढ़,जांजगीर,सुकमा,बीजापुर,जगदपुर सहित कई जिलों में तेज बारिश हो सकती है.  बता दें कि बस्तर संभाग में अब तक दोगुने से अधिक बारिश हो चुकी है वहीं मैदानी इलाके जिनमें रायपुर, बिलासपुर, दुर्ग, बिलासपुर, नांदगांव, रायगढ़, कोरिया, कोरबा और सरगुजा संभाग आता वहां कम बारिश हुई है.

कम दबाव वाले क्षेत्र का असर:

मिली जानकारी के मुताबिक पूर्वोत्तर मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) और उससे सटे दक्षिण उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh)पर कम दाब का चक्रवाती घेरा (Low pressure cyclone) समुद्र तल (Sea Level) से 3.1 किमी ऊपर तक और ऊंचाई के साथ दक्षिण-पश्चिम की ओर झुका हुआ है. समुद्र तल पर मानसून के द्रोणिका (Trough) का पश्चिमी हिमालय की तराई और पूर्वी छोर अब निम्न दाब का क्षेत्र और दक्षिण पूर्व से पूर्वी बंगाल की खाड़ी (Bay of Bengal) तक फैला हुआ है. ओडिशा तट तथा उत्तर पश्चिम बंगाल की खाड़ी से सटे पश्चिम मध्य और उससे सटे चक्रवाती घेरा बना हुआ है. इस वजह से छत्तीसगढ़ के कुछ इलाकों में बारिश हो सकती है.

ये भी पढ़ें: 

ऑनलाइन फ्रॉड में फंसा धमतरी का एक टीचर, कुछ सेकेंड में खाते से एक लाख पार   
Loading...

जन्मदिन पर भावुक हुए सीएम भूपेश बघेल, स्कूल की बच्चियों ने ऐसे दिलाई मां की याद 

 

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रायपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 23, 2019, 6:11 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...