लाइव टीवी

कोल्हटकर दंपति के खिलाफ राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग में शिकायत दर्ज
Rajnandgaon News in Hindi

Rakesh Kumar Yadav | News18 Chhattisgarh
Updated: April 1, 2018, 6:25 PM IST
कोल्हटकर दंपति के खिलाफ राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग में शिकायत दर्ज
शिकायतकर्ता शरद श्रीवास्तव

राजनांदगांव जिले में दो माह के दुधमुंहे बच्चे को बौद्ध भिक्षु बनाने की घोषणा करने वाले कोल्हटकर दंपति बुरे फंस सकते हैं.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव जिले में दो माह के दुधमुंहे बच्चे को बौद्ध भिक्षु बनाने की घोषणा करने वाले कोल्हटकर दंपति बुरे फंस सकते हैं. दरअसल, इस ऐलान (बौद्ध भिक्षुओं को बच्चा देना) को बाल संरक्षण अधिकार का उल्लंघन बताते हुए इसके खिलाफ राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग में शिकायत दर्ज की गई है. मामले में आगामी सोमवार को दंपति को बाल कल्याण समिति में पेश होने को कहा गया है

आपको बता दें कि शिकायत करने वाले चाईल्ड लाईन के संचालक और राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग के पूर्व सदस्य शरद श्रीवास्तव ने संबंधित मामले में आवश्यक कार्रवाई की मांग की है. इसे किशोर न्याय (बालको की देख रेख और संरक्षण) अधिनियम 2015 का उल्लंघन और बाल अधिकार का हनन मानते हुए इसकी शिकायत की गई है.

राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग के पूर्व सदस्य शरद श्रीवास्तव ने बताया कि शहर के शांति नगर में रहने वाले संदीप कोल्हटकर और उनकी पत्नी पुनम ने बीते 21 जनवरी 2018 को जन्मे अपने पुत्र को बौद्ध समाज के प्रचार प्रसार करने के लिए समाज को दान (समर्पित) देने की घोषणा की थी. परिजनो ने जिस बच्चे को समाज के प्रचार प्रसार के लिए समाज को समर्पित करने की घोषणा की है, उस बच्चे की उम्र केवल दो माह है. पूरा मामला अखबार के माध्यम से सामने आने के बाद आयोग को इसकी शिकायत की गई. अब मामले में बच्चे के पिता संदीप मीडिया के सामने आने से मना कर रहे हैं.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए राजनांदगांव से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 1, 2018, 6:22 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर