होम /न्यूज /छत्तीसगढ़ /CM भूपेश बघेल ने निभाया वादा, उपचुनाव में जीत के बाद किया खैरागढ़-छुईखदान-गंडई को जिला बनाने का ऐलान

CM भूपेश बघेल ने निभाया वादा, उपचुनाव में जीत के बाद किया खैरागढ़-छुईखदान-गंडई को जिला बनाने का ऐलान

मुख्यमंत्री बघेल ने ने खैरागढ़-छुईखदान-गंडई को नया जिला बनाए जाने की घोषणा की.

मुख्यमंत्री बघेल ने ने खैरागढ़-छुईखदान-गंडई को नया जिला बनाए जाने की घोषणा की.

Raipur News: खैरागढ़ विधानसभा उपचुनाव में जीत के बाद ही छ्त्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अपना वादा निभाते हुए 'खै ...अधिक पढ़ें

रायपुर. छत्तीसगढ़ के खैरागढ़ विधानसभा के उपचुनावों में मिली जीत के बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने खैरागढ़-छुईखदान-गुंडई को जिला बनाने की घोषणा कर दी है. यह छत्तीसगढ़ का 33वां जिला होगा. उन्होंने साल्हेवारा को पूर्ण तहसील और जालबांधा को उपतहसील बनाने का भी ऐलान किया. सीएम बघेल ने अपने चुनावी वादे को पूरा करते हुए रविवार शाम को नॉटिफिकेशन जारी कर दिया है. सामान्य प्रशासन और राजस्व विभाग विभाग जिला बनाने के काम में जुट गया है. बता दें कि कांग्रेस ने खैरागढ़ उपचुनाव में अपना घोषणापत्र जारी किया था. इसमें पहला वादा नया जिला बनाने का किया गया था. इसमें कहा गया था कि अगर खैरागढ़ में कांग्रेस को समर्थन मिला तो 24 घंटे के भीतर 17 अप्रैल को ‘खैरागढ़-छुईखदान-गंडई’ को जिला बना दिया जाएगा. इसी वादे को पूरा करते हुए सीएम भूपेश बघेल ने नया जिला बनाने की घोषणा कर दी है.

खैरागढ़ उपचुनाव में मिली जीत पर प्रतिक्रिया देते हुए सीएम भूपेश बघेल ने कहा, “खैरागढ़ की जनता ने आज फिर से भरोसा जताया कि कांग्रेस ही है जो कहती है, वह करती है. यशोदा वर्मा को छत्तीसगढ़ में कांग्रेस के 71 वें विधायक के रूप में चुने जाने पर बधाई. हमारे एक एक कार्यकर्ता की मेहनत के बिना यह संभव नहीं था. साथ ही खैरागढ़ की जनता ने एक व्यापक संदेश देकर नफरत के सौदागरों को यह भी बता दिया कि छत्तीसगढ़ के लोग शांतिप्रिय हैं. यहां अगर नफ़रत का व्यापार करने की कोशिश करेंगे, तो छत्तीसगढ़ के लोग माफ़ नहीं करेंगे.”

क्या है नया जिला बनाने की प्रक्रिया
बता दें कि नया जिला बनाने का पूरा अधिकार राज्य सरकार के पास होता है. राज्य सरकार किसी भी क्षेत्र को नया जिला घोषित कर सकती है. सामान्य तौर पर नया जिला कार्यकारी आदेश के बाद गठित किया जाता है. इसको लेकर सरकार प्रस्तावित जिले की सीमाओं को लेकर राजपत्र में अधिसूचना प्रकाशित करती है. इसके बाद लोगों से दावे और आपत्ति की मांग की जाती है. इसकी सुनवाई पूरी होने के बाद जिला गठन की अधिसूचना जारी की जाती है.

Tags: Bhupesh Baghel, Chhattisgarh news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें