COVID-19: कोरोना विजेता जिला बना छत्तीसगढ़ का राजनांदगांव जिला, वीनर लिस्ट में दुर्ग और बिलासपुर भी
Durg News in Hindi

COVID-19: कोरोना विजेता जिला बना छत्तीसगढ़ का राजनांदगांव जिला, वीनर लिस्ट में दुर्ग और बिलासपुर भी
एटा जिले में प्रशासन की मुस्तैदी से एक भी पॉजिटिव केस अभी तक सामने नहीं आया है (प्रतीकात्मक तस्वीर)

केन्द्र सरकार ने देशभर में ऐसे 25 जिलों के नामों की सूची जारी की है, जिसमें छत्तीसगढ़ से तीन जिले राजनांदगांव, दुर्ग और बिलासपुर शामिल हैं.

  • Share this:
राजनांदगांव. केन्द्र सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी कोरोना विजेता जिले में छत्तीसगढ़ का राजनांदगांव भी शामिल है. केन्द्र सरकार ने देशभर में ऐसे 25 जिलों के नामों की सूची जारी की है, जिसमें छत्तीसगढ़ से तीन जिले राजनांदगांव, दुर्ग और बिलासपुर शामिल हैं. कोरोना वायरस के संक्रमण कोविड-19 का एक मरीज मिलने के बाद इन जिलों में अब तक दूसरा कोई भी पॉजिटिव केस नहीं आया है. इसके चलते ही ऐसे जिलों को कोरोना विजेता जिलों में शामिल किया गया है.

देशभर में कोरोना प्रभावित जिलों की संख्या भले ही बढ़कर 354 हो गई हो, लेकिन इनमें से 25 जिले ऐसे भी हैं जो कोरोना को मात देने में सफल रहे हैं. 15 राज्यों में फैले इन जिलों में पिछले 14 दिनों से कोरोना का एक भी नया केस सामने नहीं आया है. इसके साथ ही जहां एक ओर कोरोना के नए मरीजों की बढ़ोतरी की रफ्तार थमी है तो दूसरी ओर संक्रमित मरीज भी ठीक होकर घर पहुंच गए हैं.

इसलिए बने विजेता
बता दें कि पूरे भारत में 25 जिले कोरोना विजेता के नाम से जाने जाते हैं. इसमें राजनांदगांव भी उसमें से एक जिला है. कोरोना के कहर का शिकार बनने वाले जिले कंटेंटमेंट प्लान कॉंटेक्ट रेसिंग और संदिग्धों को आइसोलेशन में रखने के नियमों का कड़ाई से पालन कर इससे बाहर आ चुके हैं. केन्द्र सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय का मानना है कि 14 दिनों से कोई नया केस सामने नहीं आने का मतलब है कि एक तरह से यह जिले कोरोना प्रभाव से मुक्त हो चुके हैं.



25 मार्च को मिला था मरीज


राजनांदगांव में 25 मार्च को पहला कोरोना संक्रमित मरीज की पहचान हुई थी. एक युवक विदेश से संक्रमित होकर लौटा था, जिसे राजनांदगांव के मेडिकल अस्पताल में भर्ती कराया गया. सप्ताह भर में ही कोरोना को मात देकर युवक को ठीक कर दिया गया. ये कोरोना संक्रमण का प्रदेश में तब दूसरा केस था. इसकी पुष्टि होने के बाद ही शासन-प्रशासन के साथ लोग भी सतर्क हो गए. जहां मरीज मिला उस पूरे क्षेत्र को सैनिटाइज किया गया. उसके संपर्क में आए सभी लोगों को होम आइसोलेशन व क्वॉरंटाइन में रखा गया. राजनांदगांव में तो कलेक्टर ने बाहर से लौटे लोगों की जानकारी छिपाने वालों के खिलाफ सीधे हत्या और हत्या का प्रयास का केस दर्ज करने का आदेश जारी कर दिया. माना जा रहा है कि इन्हीं प्रयासों के कारण वहां संक्रमण और मरीजों की संख्या नहीं बढ़ी.

ये भी पढ़ें:
छत्तीसगढ़: पैसे लेकर मजदूरों को गांव पहुंचा रहे नक्सली, गांवों के कोरोना हॉट स्पॉट बनने की आशंका

कोविड-19: हादसे में टूट गया था हाथ, लेकिन कोरोना से निपटने ऐसे मदद कर रहे अब्दुल जब्बार 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading