पीएम नरेंद्र मोदी के इस ड्रीम प्रोजेक्ट के नाम पर बेरोजगारों से ठगी, मिला फर्जी कॉल लेटर

जानकारी के मुताबिक मिनिस्ट्री ऑफ इन्फॉर्मेशन एंड टेक्नोलॉजी (Ministry of Communications and Information Technology) डिजिटल इंडिया (Digital India) के लेटर पैड पर एक युवक को कॉल लेटर भेजा गया.

Rakesh Kumar Yadav | News18 Chhattisgarh
Updated: September 3, 2019, 1:20 PM IST
पीएम नरेंद्र मोदी के इस ड्रीम प्रोजेक्ट के नाम पर बेरोजगारों से ठगी, मिला फर्जी कॉल लेटर
फर्जी कॉल लेटर आने के बाद युवक ने कंपनी की पड़ताल की, फिर ठगी का पता चला. (सांकेतिक तस्वीर )
Rakesh Kumar Yadav | News18 Chhattisgarh
Updated: September 3, 2019, 1:20 PM IST
राजनांदगांव: बेरोजगार युवक- युवतियों (Unemployed Youth) से ठगी करने के लिए शातिर बदमाशों ने नए तरह से जाल बुनना शुरू कर दिया है. फर्जी सरकारी कॉल लेटर (Fake government call letter) भेजकर युवाओं से 25 से 30 हजार रुपए की मांग की जा रही है. ऐसा ही एक मामला राजनांदगांव (Rajnandgaon) में सामने आया है. जानकारी के मुताबिक मिनिस्ट्री ऑफ इन्फॉर्मेशन एंड टेक्नोलॉजी (Ministry of Communications and Information Technology) डिजिटल इंडिया (Digital India) के लेटर पैड पर एक युवक को कॉल लेटर भेजा गया. युवक को कहा गया कि तुम्हे नौकरी दी जाएगी. इससे पहले जमानत के तौर पर 25 हजार रुपए जमा करना होगा. युवक ने जब संस्था के बारे में पता किया गया तो वो फर्जी निकला. फिरलहाल युवक ठगी का शिकार होने से बच गया.

खमतरई गांव के रहने वाले निवासी कृष्ण कांत साहु ने बताया कि उसे 27 अगस्त को पोस्ट से डिजिटल इंडिया में नौकरी के लिए ज्वाइनिंग लेटर (Joining letter) भेजा गया. उसने किसी भी नौकरी के लिए अप्लाई ही नहीं किया था. उसने लेटर में दिए गए नंबर पर कॉल किया तो संबंधित व्यक्ति ने उसे जमानत के तौर पर पहले 25 हजार 5 सौ रुपए जमा करने कहा गया. फिर युवक ने लेटर भेजने वाले संस्था के बारे में पता लगाया. जांच में पता चला की इस तरह की कोई भी संस्था है ही नहीं. इसकी शिकायत करने युवक थाने पहुंचा और इसकी जानकारी दी. ठगी हुई नहीं है इसलिए पुलिस ने इस मामले में एफआईआर (FIR) दर्ज नहीं किया है.

पुलिस ने कही ये बात:

पूरे मामले में युवक की समझदारी ने उसे ठगे जाने से बचा लिया. ऐसे कई फर्जी ज्वाइनलिंग लेटर जिले के कई युवकों के पास पहुंच रहे है. बेरोजगार युवक सामने नहीं आ रहे है. ठगों द्वारा नए तारीके से बेरोजगार युवकों को ठगने की तैयारी है और युवकों के पास ज्वाइनिंग लेटर भेजा जा रहा है. मामले में एएसपी यूएसबी चौहान का कहना है कि हम लोगों से अपील करते है कि ऐसे फर्जी लेटर और फर्जी कॉल से बचे और ऐसी कोई बात हो तो संबंधित थाने में इसकी सूचना जरूर दें, ताकि ठगी होने से बचा जा सके.

ये भी पढ़ें: 

अमित जोगी की गिरफ्तारी के बाद पूर्व CM अजीत जोगी ने कहा, यहां कानून नहीं जंगलराज है  

कंपनी ने नहीं दी थी 6 महीने से सैलरी, चौकीदार ने दोस्तों के साथ मिलकर बनाया ये प्लान 
Loading...

 

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए राजनांदगांव से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 3, 2019, 1:20 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...