एक बकरी की तलाश ने उड़ाई पुलिस की नींद, BJP सांसद भी हैं परेशान, जानें पूरा मामला

उत्तर प्रदेश में तत्कालीन समाजवादी पार्टी की सरकार में कद्दावर मंत्री रहे आजम खान की चोरी गई भैंस की तलाश में पुलिस के हलकान होने का मामला सुर्खियों में आया था, उसी तर्ज पर छत्तीसगढ़ पुलिस भी एक बकरी की तलाश में हलकान है.

News18 Chhattisgarh
Updated: July 5, 2019, 11:13 AM IST
एक बकरी की तलाश ने उड़ाई पुलिस की नींद, BJP सांसद भी हैं परेशान, जानें पूरा मामला
राजनांदगांव पुलिस एक बकरी की तलाश में परेशान है.
News18 Chhattisgarh
Updated: July 5, 2019, 11:13 AM IST
छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव की पुलिस इन दिनों एक बकरी की तलाश में लगी है. पुलिस ने इसके लिए अपने मुखबिरों को भी सक्रिय कर दिया है. राजनांदगांव के एक थाने की पुलिस के लिए बकरी को खोजना एक चुनौती की तरह हो गया है. इस बकरी की वजह से बीजेपी सांसद की चिंता बढ़ गई है. सांसद भी इसको लेकर तंग हैं. छत्तीसगढ़ के मुख्य अखबारों में से एक नईदुनिया ने इस खबर को शुक्रवार के अंक में प्रमुखता से प्रकाशित किया है.

नईदुनिया ने लिखा है- उत्तर प्रदेश में तत्कालीन समाजवादी पार्टी की सरकार में कद्दावर मंत्री रहे आजम खान की चोरी गई भैंस की तलाश में पुलिस के हलकान होने का मामला सुर्खियों में आया था, उसी तर्ज पर छत्तीसगढ़ पुलिस भी एक बकरी की तलाश में हलकान है. फर्क सिर्फ इतना ही है बकरी किसी कद्दावर नेता की नहीं बल्कि एक आदिवासी युवक की है. पुलिस की नींद इसलिए भी उड़ी है क्योंकि बकरी की तलाश की प्रगति जानने के लिए भाजपा सांसद रोज थाने में फोन करके जानकारी ले रहे हैं.

एक महीने से गुम है बकरी
दरअसल, राजनांदगांव जिले के सोमनी थाना क्षेत्र के इंदरवानी गांव निवासी आदिवासी समाज के युवक कुशल धनकर की बकरी चोरी हो गई। युवक ने पहले थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई. बात नहीं बनी तो राजनांदगांव के एसपी तक शिकायत लेकर पहुंचे. ऐसा करने में एक महीने का समय बीत गया, लेकिन उनकी बकरी नहीं मिली.

सांसद ने दिया दखल
मामला कहीं से बनता नहीं देख कुशल ने राजनांदगांव सीट से भाजपा सांसद संतोष पांडेय को फोन किया और बकरी की तलाश कराने की फरियाद की. सांसद भी क्या करते. बकरी का मालिक रोज सुबह पांच बजे सांसद को फोन करता और बकरी नहीं मिलने पर तकादा करता है. सांसद ने भी थाने में फोन करके थानेदार को बकरी चोरी की रिपोर्ट लिखने और खोजने का फरमान दिया. अब थानेदार की नींद एक बकरी ने उड़ा दी है. बकरी का मालिक सांसद को रोज फोन करता है और सांसद थानेदार को. बकरी चोरी की फरियाद करने वाले युवक की कहानी भी रोचक है.

लोकसभा चुनाव में हुई थी मुलाकात
Loading...

लोकसभा चुनाव के प्रचार के दौरान राजनांदगांव सांसद संतोष पांडेय की बकरी के मालिक की मुलाकात हुई थी. प्रचार के दौरान पांडेय ने उनको अपना पर्सनल मोबाइल नंबर दे दिया. इस बीच लोकसभा चुनाव का परिणाम आया और संतोष पांडेय सांसद चुन लिए गए.

संसद में जब संतोष पांडेय को शपथ लेते कुशल धनकर ने देखा तो उसकी उम्मीद जगी. उसने संतोष पांडेय को फोन लगाया, पहले बधाई दी, फिर अपनी बकरी चोरी की चिंता जाहिर की. इस पर पांडेय ने आश्वासन दिया कि वे कुछ करते हैं. फिर क्या था, वह युवक रोजाना सुबह पांच बजे फोन करने लगा. रोज आ रहे फोन के कारण पांडेय ने थानेदार को निर्देश दिया.

आठ हजार की है बकरी
युवक की गुम हुई बकरी की कीमत आठ हजार स्र्पये बताई जा रही है. इस बकरी को खोजने के लिए थाने के स्टाफ को लगाया गया है. युवक के गांव के आसपास एक एसआइ और दो सिपाही ने पांच से आठ दिन तक पूछताछ की और बकरी को खोजने का प्रयास किया. सांसद संतोष पांडेय ने बताया कि अब पीड़ित युवक बकरी नहीं मिलने पर कुछ मुआवजे की मांग कर रहा है. पुलिस को बकरी की तलाश जारी रखने को कहा गया है.

ये भी पढ़ें- कोर्ट लॉकअप में ताला लगाना ही भूले सिपाही, आरोपी हुआ फरार 

ये भी पढे़ं- गरियाबंद के आश्रम में फंदे पर लटकी मिली छात्रा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए राजनांदगांव से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 5, 2019, 8:33 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...