IAS छोड़ भाजपा नेता बने ओपी चौधरी कर रहे हैं ये काम
Rajnandgaon News in Hindi

छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव 2018 से ऐन पहले आईएएस छोड़ भाजपा नेता बने ओपी चौधरी इन दिनों नया काम कर रहे हैं. भाजपा के कार्यक्रमों में ओपी चौधरी इन दिनों मोटिवेशनल स्पीच दे रहे हैं.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव 2018 से ऐन पहले आईएएस छोड़ भाजपा नेता बने ओपी चौधरी इन दिनों नया काम कर रहे हैं. भाजपा के कार्यक्रमों में ओपी चौधरी इन दिनों मोटिवेशनल स्पीच दे रहे हैं. इसके तहत ही बुधवार को राजनांदगांव के पद्मश्री स्वर्गीय गोविंद राम निर्मलकर ऑडिटोरियम भवन में युवा भारत कार्यक्रम का आयोजन किया गया. इसमें ओपी चौधरी ने भाजपा कार्यकर्ताओं को मोटिवेट किया.

कार्यक्रम में ओपी चौधरी सहित राजनांदगांव के सांसद अभिषेक सिंह और महापौर मधुसुदन यादव भी मौजूद थे. कलेक्टर से भाजपा नेता बने ओपी चौधरी के युवा भारत कार्यक्रम को लेकर कांग्रेसियों ने दो दिन पहले जमकर विरोध किया था. कांग्रेस का आरोप था कि नगर निगम राजनांदगांव इस कार्यक्रम का आयोजन नहीं बन सकता, जिसके बाद नगर निगम ने शहर में लगे युवा भारत कार्यक्रम के होडिंग मे आयोजक नगर निगम को लाल पेंट से पोत दिया था.

बहरहाल कार्यक्रम में ओपी चौधरी ने पुलवामा हमले की निंदा करते हुए कारगील युद्ध के हीरो रहे कैप्टन विक्रम बत्रा के उन शब्दो से मोटीवेशन स्पीच की शुरुवात कि जिसमें कैप्टन विक्रम बत्रा ने कहा था कि -ये दिल मांगे मोर- इन्हीं शब्दों को लेकर ओपी चौधरी ने कहा कि परिस्थिति जैसी भी हो एक छात्र को उसके पास जितने भी संसाधन को उसके साथ पढ़ाई मे जुट जाना चाहिए और रोज दिल मांगे मोर की तर्ज पर पढ़ाई करनी चाहिए. इससे पहले धमतरी में आयोजित एक कार्यक्रम में भी ओपी चौधरी ने मोटिवेशनल स्पीच दिया.



दरअसल विधानसभा चुनाव में करारी हार के बाद पूरे प्रदेश में भाजपा युवा और कार्यकर्ताओं को मोटिवेट करने के लिए कार्यक्रमों का आयोजन कर रही है. इन कार्यक्रमों में ओपी चौधरी को मोटिवेट करने भेजा जा रहा है. इसके तहत अलग अलग जिलों में भारतीय जनता युवा मोर्चा के पदाधिकारी और अन्य कार्यकर्ता भी शामिल हो रहे हैं.



ये भी पढ़ें: IAS छोड़ भाजपा नेता बने ओपी चौधरी कर रहे हैं ये काम 
ये भी पढ़ें: एंटी नक्सल ऑपरेशन के डीजी बने वरिष्ठ आईपीएस गिरधारी नायक 
ये भी पढ़ें: पुलवामा अटैक: CRPF का सर्वधर्म एकता सन्देश- मजहब नहीं सिखाता आपस में बैर रखना 

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading