लोकसभा चुनाव से ठीक पहले राजनांदगांव के नक्सली इलाकों में पत्थलगड़ी, हो सकता है बड़ा आंदोलन
Rajnandgaon News in Hindi

लोकसभा चुनाव से ठीक पहले राजनांदगांव के नक्सली इलाकों में पत्थलगड़ी, हो सकता है बड़ा आंदोलन
demo pic

कुर्सेकला के आस-पास के 23 गांव के ग्रामीण एकजुट हो रहे है और इस आंदोलन को बड़ा रूप देने की तैयारी में है.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव जिले के धुर नक्सल प्रभावित क्षेत्र मानपुर के खुर्सेकला इलाके में पत्थलगड़ी की आग एक बार फिर भड़कने लगी है. आदिवासी समाज द्वारा तीन साल पहले इसकी शुरुआत की गई थी, जो आज फिर एक बार बड़ा रूप ले सकता है. कुर्सेकला के आस-पास के 23 गांव के ग्रामीण एकजुट हो रहे है और इस आंदोलन को बड़ा रूप देने की तैयारी में है. इस आयोजन में महिला, पुरूष और नवजवान सहित बच्चे भी शामिल हो रहे है. आदिसावी समाज के नेता सरजु टेकाम का कहना है कि पहले लिखित संविधान नहीं था. हमारे पुरखे पत्थर गाड़ कर सीमा निर्धारण करते थे. वहीं जल, जंगल, जमीन हमारी है, जिसमे हमारा अधिकार है. जो पंचायत तय करेगी. इन पूरे मामलों को लेकर आदिवासी पारंपरिक महाग्राम सभा का आयोजन किया गया है.

मिली जानकारी के मुताबिक जिला मुख्यालय से लगभग 130 किलोमीटर दूर नक्सल प्रभावित गांव खुर्सेकला में सैकड़ों की संख्या में आदिवासी समाज के लोग जुटे. ये तय किया गया कि जल, जंगल जमीन हमारी है. इसे लेकर आदिवासी समाज लामबंध हो रहा है, जिसमे 23 गांव के ग्रामीण शामिल हुए. इसमे आदिवासी समाज के लोगों द्वारा पारंपरिक तरीके से पूजा पाठ कर इस बैठक की शुरुआत हुई. जहां आदिवासी समाज के नेता गरजे और कहा कि जल, जंगल जमीन हमारी है, जिसमे हमारा अधिकार है. आदिवासी नेता सरजु टेकाम का कहना है कि संविधान के बी सेक्शन में इसका उल्लेख है, जहा समाज के लोग तीर कमान और बाजे-गाजे के साथ इस बैठक में पहुंचे.

आदिवासी समाज के नेता का कहना है कि ग्राम सभा का संविधान और आदिवासी समाज का संविधान पूर्व से ही है, लेकिन लिखीत में नहीं रहा और जिससे हमारी अनदेखी की गई है. हम कही से गलत नहीं है. हम सरकार के सामने अपने अधिकार के लिए आवाज उठा रहे है, जो हमारे अधिकार में है. पत्थलगड़ी आन्दोलन एक बार फिर बड़ा रूप ले रहा है, जो सीधे सरकार को चुनौत दे सकता है. वहीं इस पूरे आंदोलन के बीच नक्सलियों के मिलीभगत की बात भी सामने आ रही है. वहीं अंदरूनी इलाके में इस आंदोलन के होने के कारण प्रशासन और पुलिस भी यहां तक नहीं पहुंच पा रही है.



ये भी पढ़ें:
सीएम भूपेश बघेल जल्द कर सकते हैं भीमा मंडावी पर हुए हमले की न्यायिक जांच का ऐलान 

लोकसभा चुनाव 2019: बसपा को मजबूत करने छत्तीसगढ़ आ रही हैं मायावती, जांजगीर में लेंगी चुनावी सभा 

छत्तीसगढ़: बीजेपी के स्टार प्रचारक योगी आदित्यनाथ ने रायपुर में कहा,'मोदी हैं तो मुमकिन है' 

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज