होम /न्यूज /छत्तीसगढ़ /

पति की आंखों में डाला मिर्च पाउडर, पत्नी को भगा ले गया पूर्व प्रेमी, जानें- पूरा मामला

पति की आंखों में डाला मिर्च पाउडर, पत्नी को भगा ले गया पूर्व प्रेमी, जानें- पूरा मामला

फिलहाल मामला पुलिस (Police) तक पहुंच गया है. पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ अपहरण का मामला दर्ज कर लिया है.

राजनांदगांव. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के राजनांदगांव (Rajnandgaon) जिले से अपहरण (Kidnapping) का एक अनोखा मामला सामने आया है. यहां पति के सामने पत्नी को बदमाशों ने अगवा कर लिया है. घटना का आरोपी महिला का पूर्व प्रेमी ही बताया जा रहा है. मिली जानकारी के मुताबिक, पति अपनी पत्नी के साथ बाइक पर मंदिर में दर्शन करने जा रहा था. इसी दौरान गाड़ी में सवार होकर कुछ बदमाश आए. फिर फिल्मी स्टाइटल में बदमाशों ने कार रोकी और पति की आंखों में मिर्च पाउडर डालकर पत्नी का अपहरण कर लिया. फिलहाल मामला पुलिस (Police) तक पहुंच गया है. पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ अपहरण का मामला दर्ज कर लिया है.

मंदिर के लिए निकले थे दंपति
मिली जानकारी के मुताबिक, खैरागढ़ थाना क्षेत्र के लालपुर निवासी युवक खिलेन्द्र चंदन और महाराष्ट्र के नागपुर निवासी उषा लहरे के बीच प्रेम हो गया. सप्ताह भर पहले खिलेन्द्र उषा के साथ प्रेम विवाह कर उसे अपने घर लालपुर लाया था. शुक्रवार को खिलेन्द्र अपनी पत्नी उषा को बाइक से खैरागढ़ स्थित सांई मंदिर में दर्शन कराने लाया था. इस दौरान वापस लौटते समय रास्ते में खिलेन्द्र की बाइक पंचर हो गई.



बदमाशों ने किया अगवा
खिलेन्द्र अपनी पत्नी उषा के साथ पंचर बाइक के साथ पैदल चल रहा था. खैरागढ़ के गौरवपथ के पास नागपुर निवासी हरिश नामक युवक अपने तीन-चार दोस्तों के साथ एक कार में आया. फिर हरिश ने उषा के पति खिलेन्द्र के साथ जमकर मारपीट किया और उषा को कार में उठा कर ले गया.  बताया जा रहा है कि उषा का अपहरण करने वाला युवक हरिश उसका पूर्व प्रेमी है. इस संबंध में खैरागढ़ थाना के प्रभारी लोमेश सोनवानी ने बताया कि प्रार्थी खिलेंद्र की शिकायत पर आरोपी के खिलाफ अपहण का मामला दर्ज कर लिया गया है.

ये भी पढ़ें: 

CM भूपेश बघेल के दौरे से पहले नक्सली वारदात, सर्चिंग पर निकला जवान IED ब्लास्ट में घायल

छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस के बंद टॉयलेट में मिली युवक की लाश, GRP कर रही जांच

Tags: Chhattisgarh news, Crime report, Kidnapping Case, Raipur news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर