लाइव टीवी

नक्सलियों ने परिवार वालों को मारा, सरकारी व्यवस्था ने किया भटकने को मजबूर
Rajnandgaon News in Hindi

rakesh yadav | News18 Chhattisgarh
Updated: January 20, 2020, 5:53 PM IST
नक्सलियों ने परिवार वालों को मारा, सरकारी व्यवस्था ने किया भटकने को मजबूर
नक्सल हिंसा से पीड़ित लोगों ने सरकारी सुविधाएं नहीं मिलने का आरोप लगाया.

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के राजनांदगांव (Rajnandgaon) जिले के धुर नक्सल प्रभावित क्षेत्र के एक समू​ह ने प्रशासनिक अधिकारियों से मुलाकात की.

  • Share this:
राजनांदगांव. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के राजनांदगांव (Rajnandgaon) जिले के धुर नक्सल प्रभावित क्षेत्र के एक समू​ह ने प्रशासनिक अधिकारियों से मुलाकात की. इस समूह में जिले के मानपुर (Manpur), मदनवाड़ा, सीतागांव, औंधी, डोगरगढ़ (Dongargarh) और मोहला क्षेत्र के नक्सल प्रभावित क्षेत्र के नक्सल पीड़ित परिवार के लोग अपनी समस्या को लेकर सोमवार को जिला मुख्यालय पहुंचे थे. जहां उन्होंने कलेक्टर मुलाकात करना चाहा, लेकिन उनके नहीं होने की वजह से यह लोग ज्ञापन नहीं सौंप पाये. हालांकि उन्होंने दूसरे अफसरों से मुलाकात की.

राजनांदगांव (Rajnandgaon) जिला प्रशासन से मिलने पहुंचे ये वही लोग हैं, जिनके माता-पिता या भाई बहन और अन्य लोगों की नक्सलियों ने हत्या कर दी थी. यह सभी लोग अपना अपना घर द्वार छोड़ कर इधर उधर भटकने को मजबूर हैं. ये नक्सल पीड़ित अपना अपना गांव और जमीन जयजाद छोड़कर अलग जगह पर रह रहे हैं. केन्द्र सरकार और राज्य सरकार द्वारा ऐसे लोगों को शासन की योजना के तहत लाभ दिया जाता है और कई सरकारी योजना का लाभ मिलता है, जिसमें बस पास में यात्रा के लिए छूट, पढ़ाई के लिए छात्रवृत्ति और अन्य प्रकार की कई योजना हैं.

नक्सल हिंसा के पीड़ित परिवार के लोग.


नहीं मिल रहा लाभ

नक्सल पीड़ित परिवार की खुशबू सिन्हा, धीरेन्द्र साहू व अन्य ने बताया कि सरकारी योजनाओं का लाभ लाभ उन्हें नहीं मिल पा रहा है. सरकारी कार्यालयों के चक्कर लगा लगाकर परेशान हैं. कलेक्ट्रेट यह नक्सल पीडित परिवार के लोग तीसरी बार आ रहे हैं. वही एसपी कार्यालय भी तीन से चार बार जा चुके हैं. इसके बाद भी इनको योजना का लाभ नही मिल पा रहा है.

ये भी पढ़ें:
मदनवाड़ा नक्सल हमले की जांच के लिए 9 बिन्दु तय, 6 महीने में आयोग देगा रिपोर्ट केरल के एक निजी कंपनी में बंधक हैं बस्तर की 18 लड़कियां, CSP से शिकायत 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए राजनांदगांव से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 20, 2020, 5:53 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर