किसानों के नए खरीफ फसलों के बीमा के लिए जिला प्रशासन को अधिसूचना जारी

किसानों के नए खरीफ फसलों के बीमा के लिए जिला प्रशासन को अधिसूचना जारी

किसानों के नए खरीफ फसलों के बीमा के लिए जिला प्रशासन को अधिसूचना जारी

राजनांदगांव में जिला प्रशासन को अब महज 20 दिनों के अंदर जिले के पौने 2 लाख किसानों का नए खरीफ फसल के लिए बीमा करने का राज्य सरकार द्वारा अधिसूचना जारी किया गया है.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव जिले में पिछले खरीफ की फसल बीमा की राशि नहीं मिलने की शिकायत से परेशान जिला प्रशासन को अब महज 20 दिनों के अंदर जिले के पौने 2 लाख किसानों का नए खरीफ फसल के लिए बीमा करने का राज्य सरकार द्वारा अधिसूचना जारी किया गया है. बता दें कि जिले के किसानों को पिछले वर्ष की फसल बीमा की राशि अभी तक नहीं मिली है. वहीं इस वर्ष नए बीमा कंपनी यूनाइटेड इंडिया इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड द्वारा फसल बीमा करवाने का आदेश जारी किया गया है.



राज्य शासन ने बीते 9 जुलाई को एक आदेश जारी कर धान सिंचित, धान असिंचित, मक्का, सोयाबीन, मूंगफली, तुअर, मूंग और उड़द की फसल बीमा को लकेर अधिसूचना जारी किया है. शासन ने इस वर्ष फसल बीमा करवाने के लिए विलंब से अधिसूचना जारी किया है जबकि शासन द्वारा हर साल मई और जून महीने के बीच में ही बीमा कंपनी का निर्धारण कर दिया जाता है, लेकिन इस वर्ष लालफीताशाही के चलते इस बार जुलाई माह में अधिसूचना का प्रकाशन कर सरकार ने बीमा करने का आदेश जारी किया गया है.



पिछले वर्ष खरीब फसल के दौरान जिले के 1 लाख 78 हजार किसानों ने फसल बीमा करवाया था. वहीं इस वर्ष पौने 2 लाख किसानों का फसल बीमा महज 20 दिन में करने का फरमान जारी किया गया है. वहीं जिले के किसानों का कहना है कि सरकार द्वारा पिछले साल अकाल पड़ने के बाद फसल बीमा करवाने के बाद भी फसल बीमा की राशि अभी तक नहीं मिली है.





 
प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत जिले के सभी किसानों की फसल बीमा करवाने के लिए जिला प्रशासन जुट गई है. वहीं जिले के किसानों को फसल बीमा के लिए घोषणा और बुआई का प्रमाण पत्र अरिणी कृषकों को बैंक, सहकारी समिति और लोक सेवा केंद्र में बीमा प्रस्ताव फॉर्म, आधार कार्ड, बैंक पासबुक, भू-स्वामित्व सांख्य जमा करवाना पड़ेगा. साथ ही इस वर्ष प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत धान सिंचित और असिंचित का प्रति हेक्टेयर ऋणमान 42 हजार रुपए और 34500 रुपए है, जिसका 2 प्रतिशत अर्थात कृषक द्वारा देय प्रीमियम राशि 840 रुपए धान सिंचित और 690 रुपए धान असिंचित के लिए प्रति हेक्टेयर की राशि तय की गई है.



वहीं किसानों को मक्का फसल बीमा के लिए 600 रुपए, सोयाबीन फसल के लिए 700 रुपए, उड़द के लिए 300 रुपए और अरहर के लिए 500 प्रति हेक्टेयर बीमा प्रियमम की राशि तय की गई है. कलेक्टर भीम सिंह का कहना है कि प्रधानमंत्री फसल बीमा करवाने के लिए हर गांव में किसान सभा 24 जुलाई तक सभा कर जिले के सभी किसानों को फसल बीमा करवाने की बात कही. साथ ही कहा कि जिला प्रशासन द्वारा बीमा करवाने के लिए अधिकारियों को निर्देश जारी करने और 20 दिन में जिले के सभी किसानों को फसल बीमा करवाने की बात कही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज