होम /न्यूज /छत्तीसगढ़ /

पुलिस जवानों ने किया कमाल, गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज कराया नाम, जानें डिटेल

पुलिस जवानों ने किया कमाल, गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज कराया नाम, जानें डिटेल

राजनांदगांव पुलिस का नाम गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज हुआ है.

राजनांदगांव पुलिस का नाम गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज हुआ है.

छत्तीसगढ़ की राजनांदगांव पुलिस ने अपना नाम गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज कराया है. आजादी का अमृत महोत्सव के दौरान राजनांदगांव पुलिस द्वारा आयोजित कार्यक्रम को गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज किया गया है. 1043 अधिकारी और कर्मचारियों ने हमर तिरंगा यात्रा निकालकर ये वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया है.

अधिक पढ़ें ...

राजनांदगांव. आजादी का अमृत महोत्सव के दौरान छत्तीसगढ़ की राजनांदगांव पुलिस द्वारा 1043 अधिकारी और कर्मचारियों ने हमर तिरंगा यात्रा निकालकर वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया गया. राजनंदगांव पुलिस आइटीबीपी, सीएएफ और एनसीसी कैडेटों ने हाथों में तिरंगा लेकर रैली निकाली. 1043 वर्दीधारी एक साथ तिरंगा लेकर चले, जिसके बाद राजनांदगांव पुलिस का नाम गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज हो गया. इतनी बड़ी संख्या में एक साथ तिरंगा लेकर चलने के कारण ये रिकॉर्ड राजनांदगांव पुलिस के नाम दर्ज हुआ.

राजनांदगांव पुलिस अधीक्षक प्रफुल ठाकुर ने बताया कि हमर तिरंगा अभियान के तहत 1043 वर्दीधारी ने अपने हाथों में तिरंगा लेकर दिग्विजय स्टेडियम से ऑडिटोरियम तक रैली निकाली. यह रैली सफलतापूर्वक ऑडिटोरियम पहुंची, जिसके बाद राजनांदगांव पुलिस का नाम गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज हो गया. यह राजनांदगांव पुलिस के लिए बहुत ही गर्व की बात है. साथ ही इस तिरंगा यात्रा के बाद शहीद के परिजनों को साॅल, श्रीफल और तिरंगा देकर सम्मानित किया गया. इस आयोजन में सैकड़ों की संख्या में फोर्स के जवान और उनके परिवार के लोग मौजूद रहे.

जवानों में खुशी की लहर
राजनांदगांव पुलिस ने वर्ल्ड रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज कराया है, जिसके बाद जवानों में खुशी की लहर है. राजनांदगांव पुलिस के अधिकारियों ने कहा कि यह हमारे लिए निश्चित ही गर्व का पल है. आजादी के अमृत महोत्सव के दौरान पुलिस वालों का ये आयोजन शहर में चर्चा का विषय है. स्थानीय लोगों का कहना है कि आमतौर पर पुलिस दूसरे कार्यक्रमों में ड्यूटी देते ही नजर आती है, लेकिन पुलिस विभाग द्वारा खुद आयोजन कराकर अपना नाम गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज करवाना शहर के लिए गर्व की बात है. आगे भी इस तरह के आयोजन किए जाने चाहिए.

Tags: Chhattisgarh news, Rajnandgaon news

अगली ख़बर