Home /News /chhattisgarh /

कोरोना के कारण स्कूल बंद हुए तो कलेक्टोरेट में जमीन पर बैठ स्टूडेंट करने लगे पढ़ाई

कोरोना के कारण स्कूल बंद हुए तो कलेक्टोरेट में जमीन पर बैठ स्टूडेंट करने लगे पढ़ाई

राजनांदगांव में विद्यार्थियों ने स्कूल बंद होने के खिलाफ प्रदर्शन किया.

राजनांदगांव में विद्यार्थियों ने स्कूल बंद होने के खिलाफ प्रदर्शन किया.

Chhattisgarh News: छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव जिले में छात्र-छात्राओं ने अनोखा प्रदर्शन किया. कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर स्कूल बंद कर दिए गए हैं. स्कूल बंद करने का विरोध छात्र-छात्राओं ने किया. विरोध प्रदर्शन कर रही छात्राओं ने कहा कि शराब दुकान मार्केट खुलने से भी कोरोना संक्रमण फैलता है. स्कूलों को बच्चों की पढ़ाई को देखते हुए खोला जाए.आगामी परीक्षाओं को देखते हुए बच्चों के हित में स्कूल खोले जाएं. बोर्ड परीक्षाओं में दसवीं और बारहवीं दोनों की कक्षाएं चालू की जाएं.

अधिक पढ़ें ...

राजनांदगांव. छात्र युवा मंच के नेतृत्व में स्कूली छात्र छात्राओं ने अनोखा संकेतिक प्रदर्शन किया. छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव कलेक्ट्रेट के सामने बैठकर कॉपी पुस्तक निकालकर सांकेतिक पढ़ाई की. विद्यार्थियों ने स्कूल बंद करने के निर्णय पर पुनर्विचार करने कलेक्टर के नाम सौंपा ज्ञापन. बढ़ते कोरोना मामलों के चलते कलेक्टर ने स्कूल बंद करने के आदेश जारी किए हैं. राजनांदगांव कलेक्ट्रेट कार्यालय के सामने महात्मा गांधी की मूर्ति के पास छात्र छात्राओं ने कॉपी पुस्तक निकालकर सांकेतिक पढ़ाई की. स्कूल बंद किए जाने को लेकर पुनर्विचार करने की मांग की है.

आगामी समय में 10वीं और 12वीं बोर्ड की परीक्षा होने वाली है. पिछले कोरोना काल में भी बच्चों को जनरल प्रमोशन दिया गया है, जिससे बच्चों का मानसिक स्तर  वह निरंतर घटा है. वही स्कूल खुले लगभग 6 महीने हुए हैं. फिर वापस स्कूल बंद किए जाना बच्चों के मानसिक स्तर को कम करेगा. उनकी मांग है कि स्थिति को देखते हुए और 10वीं 12वीं बोर्ड परीक्षाओं को ध्यान में रखते हुए वैकल्पिक व्यवस्था लागू की जाए. जिससे बच्चे आगे पढ़ सकें और अपना मानसिक विकास करते रहें. इसी मांग को लेकर सोमवार को राजनांदगांव कलेक्ट्रेट कार्यालय पहुंचकर अनोखा सांकेतिक प्रदर्शन किया गया.

शाराब दुकानें खाेलने का विरोध
विरोध प्रदर्शन कर रही छात्राओं ने कहा कि शराब दुकान मार्केट खुलने से भी कोरोना संक्रमण फैलता है. स्कूलों को बच्चों की पढ़ाई को देखते हुए खोला जाए.आगामी परीक्षाओं को देखते हुए बच्चों के हित में स्कूल खोले जाएं. बोर्ड परीक्षाओं में दसवीं और बारहवीं दोनों की कक्षाएं चालू की जाए उसके लिए वैकल्पिक व्यवस्था की जाए, जिससे बच्चे पढ़ाई कर सकें. मांग को लेकर कलेक्ट्रेट के सामने सांकेतिक रूप से बैठकर पढ़ाई करते हुए बच्चों ने स्कूल खोले जाने की मांग की है. बता दें कि सरकार ने 4 प्रतिशत से अधिक पॉजिटिविटी वाले जिलों में स्कूल बंद करने के निर्देश दिए हैं.

Tags: School news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर