लाइव टीवी

इस प्राथमिक स्कूल में पढ़ने वाले बच्चे इंग्लिश में करते हैं बातचीत

Rakesh Kumar Yadav | News18 Chhattisgarh
Updated: July 7, 2018, 3:31 PM IST
इस प्राथमिक स्कूल में पढ़ने वाले बच्चे इंग्लिश में करते हैं बातचीत
इस प्राथमिक स्कूल में पढ़ने वाले बच्चे इंग्लिश में करते हैं बातचीत

राजनांदगांव जिले में खैरागढ़ ब्लॉक के मुंह डबरी गांव के प्राथमिक स्कूल के शिक्षकों और छात्रों ने साबित कर दिया है कि वे किसी भी महंगे प्राइवेट स्कूल के बच्चों से कम नहीं हैं.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव जिले में खैरागढ़ ब्लॉक के मुंह डबरी गांव के प्राथमिक स्कूल के शिक्षकों और छात्रों ने साबित कर दिया है कि वे किसी भी महंगे प्राइवेट स्कूल के बच्चों से कम नहीं हैं. दरअसल, प्राथमिक स्कूल के बच्चे भी अब प्राइवेट स्कूलों के बच्चों की तरह इंग्लिश में बोलते हैं. स्कूल में चाहे क्लास किसी भी विषय की हो हर सवाल और जवाब के लिए अंग्रेजी का इस्तेमाल करते हैं. गांव के इन बच्चों के लिए अंग्रेजी सबसे आसान भाषा बन गई है.

इस स्कूल में करीब 65 से ज्यादा छात्र-छात्राए पढ़ रहे हैं. ये प्रयोग स्कूल के शिक्षकों द्वारा किया गया है. गांव के बच्चे जिन खेलों को छत्तीसगढ़ी में खेला करते थे, उसे अब यहां के शिक्षकों ने पहले अंग्रेजी में बदला यही खेल स्कूल परिसर में पढ़ाई के दौरान खेलाया जाने लगा. खेल के दौरान छत्तीसगढ़ी शब्द की जगह अंग्रेजी शब्द को शामिल किया और बच्चों से इन्हीं शब्दों का इस्तेमाल करने को कहा गया है. देखते ही देखते ये शब्द बच्चों की जुबान पर चढ़ गए. अब स्कूली छात्र-छात्राएं आम बातचीत के दौरान अंग्रेजी शब्दों का इस्तेमाल कर रहे हैं.

जिला मुख्यायल से करीब 70 किलोमिटर दूर नक्सल प्रभावित क्षेत्र के जंगलों के बीच बसा यह गांव के बच्चे सुविधा के अभाव के बावजूद इंग्लिश बोल रहे हैं. इस गांव के लोगों को हिंदी भी ठीक से बोलने नहीं आती और इनके बच्चे गांव के ही प्राथमिक स्कूल में पढ़ रहे हैं. इस स्कूल में पदस्थ शिक्षक के अथक प्रयास से बच्चे आज फर्राटेदार अंग्रेजी बोल रहे हैं. वहीं इस स्कूल में कक्षा पहली से लेकर पांचवी तक की कक्षाएं लगती है और इस स्कूल में हिंदी माध्यम से बच्चों को पढ़ाया जाता है, लेकिन इन शिक्षकों ने मन में ठाना की सरकारी स्कूल में पढ़ने वाले बच्चे भी प्राइवेट से कम नहीं है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए राजनांदगांव से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 7, 2018, 3:30 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर