सीएम बनने के बाद पहली बार पोलमपल्ली पहुंचे भूपेश बघेल, नक्सलियों को लेकर दिया ये बड़ा बयान

सीएम भूपेश बघेल पहुंचे पोलमपल्ली.

मुख्यमंत्री ने एक चौपाल लगाकर लोगों से उनकी समस्याओं के बार में जानकारी ली और उसे हल करने का आश्वासन भी दिया.

  • Share this:
मुख्यमंत्री बनने के बाद भूपेश बघेल पहली बार सुकमा जिले के पोलमपल्ली पहुंचे. सीएम बघेल के साथ गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू और प्रभारी मंत्री कवासी लखमा भी पहुंचे. मुख्यमंत्री सबसे पहले सीआरपीएफ के कार्यक्रम में शामिल हुए जहां सीएम बघेल ने जवानों से चर्चा की और उनका हौसला अफजाई किया और उनकी समस्याओं के बारे में जानने की कोशिश की. सीएम भूपेश बघेल ने एक उप स्वास्थ्य केन्द्र का उद्घाटन भी किया. इसके बाद मुख्यमंत्री ने एक चौपाल लगाकर लोगों से उनकी समस्याओं के बार में जानकारी ली और उसे हल करने का आश्वासन भी दिया.

सीएम बघेल ने की ये घोषणाएं

नक्सल प्रभावित इलाके में तैनात जवानों की समस्याओं के बारे में सीएम बघेल ने जाना और उनकी समस्याओं के निराकरण आश्वासन भी दिया. यहां पर सहायक आरक्षक को आरक्षक बनाने की चर्चा निकली तो इस पर शैक्षणिक योग्यता आड़े आ रही थी. इसके बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने विचार-विमर्श करने की बात कही. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने नवनिर्मित प्रसव केन्द्र समेत सामुदायिक भवन, अनाज गोदाम का उद्घाटन किया. चौपाल कार्यक्रम में सीएम बघेल ने सरकार के योजनाओं की जानकारी दी. साथ ही बेरोजगार युवाओं को स्थानीय स्तर पर भर्ती करने की भी बात कही. उन्होने कहा कि गांव-गांव में लघु उघोग खोलने पर जोर दिया जाएगा. इसके अलावा गादीरास, तोंगपाल और जगरगुण्ड़ा को उप तहसील बनाने की भी घोषणा की. वहीं मिनी स्टेडियम पोलमपल्ली की भी स्वीकृति सीएम बघेल ने दी.

नक्सलियों को लेकर दिया ये बयान
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि सुकमा जिले में विकास की बहुत सारी संभावनाएं है. महिला हो या फिर युवा सबको रोजगार से जोड़ेंगे ताकि लोगों के जीवन स्तर में सुधार हो. जितनी शिक्षा हो वैसे ही रोजगार दिया जाएगा. छत्तीसगढ़ सरकार की और से कोई कमी नहीं आने दी जाएगी. नक्सलवाद को लेकर उन्होने कहा कि सीधी सी बात है भारत के संविधान में विश्वास करें. हथियार छोड़े तभी नक्सलियों से बात संभव. पोलावरम पर उन्होने कहा कि भारत सरकार के समक्ष अपना पक्ष रखा गया है. जरूरत पड़ी तो न्यायालय में भी जाएंगे. सुकमा के हितों के साथ कोई समझौता नहीं होगा. आदिवासियों की रिहाई पर उन्होने कहा कि जेल में बंद लोगों के लिए कमेटी गठित हो गई है. फैसला जल्द लिया जाएगा.

ये भी पढ़ें:

VIDEO: देखिए मानसून को लेकर मौसम विभाग ने क्या संभावना जताई है
मुश्किल में पड़ सकते हैं ओपी चौधरी, दंतेवाड़ा जमीन घोटाले की जांच के लिए आयोग गठित 

धमतरी में एक ही परिवार के तीन लोगों पर जानलेवा हमला, ये है वजह 

छत्तीसगढ़ की इस सीट पर जीत के आंकड़े से ज्यादा वोट नोटा को, जांच की मांग कर रही बीजेपी 

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स      

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.