• Home
  • »
  • News
  • »
  • chhattisgarh
  • »
  • सुकमा: मेला देखने गया था गोपनीय सैनिक, ताक में बैठे नक्सलियों ने आधी रात कर दी हत्या

सुकमा: मेला देखने गया था गोपनीय सैनिक, ताक में बैठे नक्सलियों ने आधी रात कर दी हत्या

घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस मौक के लिए रवाना हो गई है. (Demo Pic)

घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस मौक के लिए रवाना हो गई है. (Demo Pic)

बताया जाता है कि सीआरपीएफ कैम्प से करीब 500 मीटर दूर नक्सलियों ने एक गौपनीय सैनिक को मौत के घाट उतार दिया है.

  • Share this:
सुकमा.  छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के सुकमा (Sukma) जिले में नक्सलियों (Naxal) ने फिर एक बार एक बड़ी वारदात को अंजाम दिया है. नक्सलियों ने मंगलवार देर रात एक गोपनीय सैनिक की हत्या (Murder) कर दी है. मृतक पूर्व नक्सली था और सरेंडर (Surrender) के बाद पुलिस के लिए काम करता था. जानकारी के मुताबिक, तोंगपाल इलाके का रहने वाला कवासी हूंगा मंगलवार को पालेम गगंव में मेला देखने गया था. नक्सलियों को इसकी भनक लगी. मेला देखकर हूंगा जब वापस लौट रहा था तब नक्सलियों ने तेजधार हथियार से हमला कर उसकी हत्या कर दी. घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस (Police) मौके के लिए रवाना हुई है.


मालूम हो कि पिछले कुछ दिनों से लगातार नक्सली गौपनीय सैनिक या फिर जिस पर मुखबिरी का शक हो उसे मौत के घाट उतार रहे है. बीते एक सप्ताह में यह तीसरी घटना है जिसे नक्सलियों ने अंजाम दिया है. बताया जाता है कि सीआरपीएफ कैम्प से करीब 500 मीटर दूर नक्सलियों ने एक गौपनीय सैनिक को मौत के घाट उतार दिया है.


मेला देखने गया था गोपनीय सैनिक 


मिली जानकारी के मुताबिक तोंगपाल थाना क्षेत्र जैमेर गांव का निवासी कवासी हूंगा वर्तमान में पुलिस के लिए गोपनीय सैनिक में काम करता था. वो पालेम गांव में चल रहे मेले को देखने के लिए आया हुआ था. दिनभर मेले देखने के बाद मंगलवार रात तकरीबन 3 बजे जब वो मेले में नाच रहा था. तभी वहां ताक में बैठे नक्सलियों ने धारदार हथियार से कवासी हूंगा की हत्या कर दी. हत्या के बाद वहां पर दहशत का माहौल है. यह घटना पालेम स्थित सीआरपीएफ कैम्प से महज 500 मीटर दूर है. जानकारी मिलते ही बुधवार सुबह तोंगपाल पुलिस मौके के लिए रवाना हुई.


एक सप्ताह में यह तीसरी घटना  


पिछले एक सप्ताह में नक्सली लगातार ग्रामीणों को निशाना बनाते हुए उन्हें के घाट उतार रहे है. सप्ताह में यह तीसरी घटना है. पहली घटना चिंतलनार थाना क्षेत्र के मुकरम में हुई थी जहां नक्सलियों ने ग्रामीण को मौत के घाट उतार दिया था. उसी दिन तोंगपाल थाना क्षेत्र के कोलोमकोन्टा में हुई थी.


इन तीनों घटनाओं में एक सामान्य बात यह है कि तीनों पूर्व में नक्सल संगठन से जुड़कर काम किया करते थे. मंगलवार को पालेम में भी जिस गोपनीयय सैनिक की हत्या हुई है वो भी नक्सल संगठन में काम करता था. एक साल पहले आत्मसमर्पण कर उसने पुलिस के लिए काम करना शुरू किया था.  न्यूज18 से चर्चा करते हुए एसपी शलभ सिन्हा ने घटना की पुष्टि करते हुए बताया कि रात में नक्सलियों ने पालेम गांव में गोपनीय सैनिक कवासी हूंगा की हत्या कर दी है. मौके के लिए पुलिस रवाना हुई है.






ये भी पढ़ें: 




पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज