जमीन विवाद में भतीजे ने चाचा को उतारा मौत के घाट, जुर्म छिपाने किया ये काम

सुकमा के पोलमपल्ली के पांतापारा के पास बीते 10 जुलाई की सुबह खेत में कलमू भीमा का शव मिला था.

satish | News18 Chhattisgarh
Updated: July 11, 2019, 7:24 PM IST
जमीन विवाद में भतीजे ने चाचा को उतारा मौत के घाट, जुर्म छिपाने किया ये काम
छत्तीसगढ़ के सुकमा में एक दिन पहले हुए अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझाने का दावा पुलिस ने किया है.
satish | News18 Chhattisgarh
Updated: July 11, 2019, 7:24 PM IST
छत्तीसगढ़ के सुकमा में एक दिन पहले हुए अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझाने का दावा पुलिस ने किया है. पुलिस का दावा है कि जमीन की लालच में भतीजे ने अपने चाचा की हत्या कर दी. हत्या में आरोपी भतीजे का साथ मृतक के भांजे ने भी दिया है. पुलिस ने आरोपी भांजे को गिरफ्तार कर लिया है. जबकि मुख्य आरोपी भतीजा अब भी फरार है. आरोपी की तलाश पुलिस कर रही है.

सुकमा के पोलमपल्ली के पांतापारा के पास बीते 10 जुलाई की सुबह खेत में कलमू भीमा का शव मिला था. जिसके बाद परिजनों ने हत्या की आशंका जताई थी. वहीं पुलिस इस मामले की जांच में जुट गई थी. एसपी शलभ सिन्हा के निर्देश पर एसडीओपी अखिलेश कौशिक के नेत्तृव में पोलमपल्ली पुलिस मामले की जांच में जुट गई. दिनभर पतासाजी करने के बाद सच्चाई सामने आई.



जमीन को लेकर थ विवाद
पुलिस के मुताबिक मृतक कमलू भीमा और उसके भतीजे कलमू मुडा के बीच जमीन का विवाद काफी दिनों से चल रहा था. विवाद इतना बढ़ गया था कि कलमू मुडा ने अपने ही चाचा को मारने का प्लान बनाया, जिसमें मृतक कलमू भीमा का भांजा किच्चे लच्छा ने भरपूर साथ दिया. आखिरकार 9 जुलाई की देर रात को घटना को अंजाम दिया गया. जांच में जुटी पुलिस साक्ष्य के आधार पर दोनों को गिरफ्तार करने के लिए रवाना हुई. लेकिन भतीजा कलमू मुड़ा फरार हो गया.

ये भी पढ़ें: नक्सल इलाकों में आदिवासी बच्चों की तस्करी के लिए अपनाया था अलग तरीका, ऐसे खुला राज  

-कोर्ट में दुष्कर्म पीड़िता ने खुद की अपने केस की पैरवी 
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...