लाइव टीवी

चित्रकोट उपचुनाव में बड़ी वारदात की साजिश रचे थे नक्सली, इलाके में बना रखे थे 30 कैम्प

सत्‍यनारायण पटेल | News18 Chhattisgarh
Updated: October 16, 2019, 7:14 PM IST
चित्रकोट उपचुनाव में बड़ी वारदात की साजिश रचे थे नक्सली, इलाके में बना रखे थे 30 कैम्प
क्सली उपचुनाव को प्रभावित करना चाहते थे. इसकी जानकारी पुलिस को लगातार मिल रही थी. सांकेतिक फोटो.

सुकमा (Sukma) एसपी शलभ सिन्हा ने मीडिया को बताया कि मलकानगिरी और बस्तर (Bastar) की सीमा पर नक्सलियों (Naxalites) के होने की सूचना लगातार मिल रही थी.

  • Share this:
सुकमा. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के बस्तर (Bastar) के चित्रकोट उपचुनाव (Chitrakote By-Election) के मतदान होने में कुछ ही दिन बचे हैं. ऐसे में सुकमा पुलिस (Sukma Police) ने उसी इलाके में तीन लाख के इनामी नक्सली (Naxalite) को मार गिराया है. साथ ही जवानों को वहां 30 जगहों पर नक्सली कैम्प होने के निशान मिले हैं. नक्सली उपचुनाव को प्रभावित करना चाहते थे. इसकी जानकारी पुलिस को लगातार मिल रही थी. मौके से एक पिस्टल भी बरामद किया गया है. इसका खुलासा खुद पुलिस ने किया है.

सुकमा (Sukma) एसपी शलभ सिन्हा ने मीडिया को बताया कि मलकानगिरी और बस्तर (Bastar) की सीमा पर नक्सलियों (Naxalites) के होने की सूचना लगातार मिल रही थी. जिसके बाद बीते 13 अक्टूबर को पुसपास थाने और कुमाकोंलेंग से डीआरजी और एसटीएफ के जवानों को ऑपरेशन के लिए भेजा गया. इधर मलकानगिरी जिले से एसओजी को भी ऑपरेशन के लिए निकाला गया था. ताकि नक्सलियों को दोनों ओर से घेरा जा सके. जवानों की अलग-अलग पार्टी डोंडीपदर, बुईतुलसी, चेरकोटला इलाके में सर्चिग कर रही थी. तभी चांदामेटा और कोटवापदर तुलसी डोंगरी का हिस्सा है, वहां पहाड़ पर नक्सलियों का कैम्प लगा हुआ था. वहीं नीचे एक छोटी पार्टी भी मौजूद थी, जो संतरी का काम कर रही थी.

..तो शुरू कर दी फायरिंग
एसपी सिन्हा ने बताया कि जवानों को देख नीचे छोटी पार्टी थी, जिसका कोसा नेत्तृव कर रहा था. उन्होंने जवानों पर फायरिंग करनी शुरू कर दी. जिसके बाद जवानों ने भी जवाबी कार्रवाई की. दोनों ओर से करीब 20 से 25 मिनट तक फायरिग हुई और नक्सली वहां से भाग गए. उसके बाद जब मौके की सर्चिग की गई तो एक इंडियन मेड पिस्टल बरामद हुई. इसके अलावा जिंदा राउण्ड, कोर्डेक्स वायर, 400 ग्राम बारूद बरामद हुआ है. इसके अलावा एक नक्सली का शव बरामद हुआ है, जिसकी शिनाख्त माड़वी कोसा चिकपाल निवासी के रूप में हुई है. कोसा मउपदर एलओएस कमांडर जिस पर 3 लाख का इनाम घोषित था. वहीं जवान ऑपरेशन समाप्त कर 15 अक्टूबर की देर रात 12 बजे कैम्प पहुंचे.

30 जगहों पर मिले कैम्प होने के निशान
एसपी शलभ सिन्हा ने बताया कि हमारे जवान जब ऑपरेशन पर निकले तो उन्हें नक्सलियों के कैम्प होने के करीब 30 जगहों पर निशान मिले. जहां नक्सलियों के द्वारा कैम्प लगाया गया था. क्योंकि हमारे पास लगातार सूचनाएं मिल रही थी कि नक्सली चित्रकोट उप चुनाव को प्रभावित करने की साजिश रच रहे हैं. साथ ही बड़े लीडरों की मौजूदगी की भी खबरे लगातार मिल रही थीं. बता दें कि चित्रकोट उपचुनाव के तहत 21 अक्टूबर को वोटिंग होनी है. चित्रकोट विधानसभा क्षेत्र के करीब एक दर्जन बूथ सुकमा जिले में हैं.

ये भी पढ़ें: कश्मीर में आतंकियों ने की छत्तीसगढ़ के मजदूर की हत्या, CM भूपेश बघेल ने किया ये ऐलान 
Loading...

सुपेबेड़ा में किडनी पीड़ित एक और मरीज की मौत, 71 पहुंचा मरने वालों आंकड़ा, राज्यपाल से शिकायत 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए सुकमा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 16, 2019, 7:14 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...