लाइव टीवी

सुकमा हमला: सीआरपीएफ जवानों के लिए फरिश्‍ता बना एमआई-17 हेलिकॉप्‍टर

Vinod Kushwaha | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: April 25, 2017, 10:27 PM IST
सुकमा हमला: सीआरपीएफ जवानों के लिए फरिश्‍ता बना एमआई-17 हेलिकॉप्‍टर
सांकेतिक फोटो

छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले के चितागुफा और बुर्कापाल में सोमवार को हुए माओवादी हमले के बाद सीआरपीएफ के घायल जवानों को जंगलों से निकालने में एयरफोर्स के हेलिकॉप्टरों ने काफी अहम भूमिका निभाई.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले के चिंतागुफा और बुर्कापाल में सोमवार को हुए माओवादी हमले के बाद सीआरपीएफ के घायल जवानों को जंगलों से निकालने में एयरफोर्स के हेलिकॉप्टरों ने काफी अहम भूमिका निभाई.

यह भी पढ़ें: सुकमा: ग्राउंड जीरो की तस्वीरें, जहां नक्सलियों ने खेली खून की होली

बस्‍तर में पहली बार रातभर उड़े
ये पहला मौका था जब बस्तर के आकाश में देर शाम से लेकर रातभर एयरफोर्स के हेलिकॉप्टर उड़ान भरते रहे. इन्‍होंने घायल जवानों को कुछ ही समय में अस्‍पताल पहुंचाया. वहीं नक्सल प्रभावित इलाके में नाइट लैंडिंग करके शहीद जवानों के शवों को रायपुर लाया गया.

यह भी पढ़ें: सुकमा से ग्राउंड रिपोर्ट: 2 कंपनियां, 6 घंटे, 100 जवान; जहां सोचा नहीं था वहीं हुआ हमला

बचाई 6 जवानों की जान
बस्तर में लाल आतंक से लड़ाई के बीच जब तब चलाए जाने वाले रेस्‍क्‍यू ऑपरेशन में ये दूसरा मौका था, जब बगैर किसी तरह की परवाह किए बस्तर के धुर नक्सल प्रभावित इलाके में एयर फोर्स के एमआई-17 हेलिकॉप्टर उड़ान भरते रहे. इन्‍होंने वक़्त रहते छह जवानों को जंगल से निकालकर अस्पताल पहुंचाया और उनकी जान की हिफाज़त की.यह भी पढ़ें: नक्सलियों का घातक हथियार बन गया है 'बाल संघम'

रायपुर पहुंचते ही फिर मिला संदेश
एंटी नक्सल टास्क फोर्स के कमांडर अजय शुक्ला के मुताबिक बुर्कापाल हमले में घायल हुए 7 जवानों को तत्काल रायपुर पहुंचाने का मैसेज मिला. इस पर तत्काल अमल करते हुए जगदलपुर से एमआई-17 को रवाना किया गया. जैसे ही एयरफोर्स का हेलिकॉप्टर जवानों को लेकर रायपुर पहुंचा, तत्काल ही एयरफोर्स को 24 शहीद जवानों को रायपुर लिफ्ट करने की एक और सूचना मिली.

यह भी पढ़ें: सुकमा नक्सली हमला: फिर रुला गया अप्रैल महीना

नहीं की घने अंधेरे की परवाह
सूचना मिलते ही एयरफोर्स की फ्लाइट फिर से सुकमा के बुर्कापाल के लिए रवाना हुई. तब तक अंधेरा घना हो चुका था, लेकिन घने अंधेरे की परवाह किए बगैर न केवल एमआई-17 की लैंडिंग हैलीपेड पर कराई गई, बल्कि सभी 24 शहीद जवानों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए रायपुर पहुंचाया गया.

यह भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ नक्सली हमलाः नक्सलियों का खात्मा न होने से दुखी हैं शहीद के पिता

झारखंड में भी रेस्‍क्‍यू ऑपरेशन
इसी तरह एक और रेस्क्यू ऑपरेशन झारखंड के जगुआर कमांडो के लिए भी एयरफोर्स ने किया और उन्हें इलाज के लिए रांची के अस्पताल में भर्ती कराया गया.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए सुकमा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 25, 2017, 7:59 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर