• Home
  • »
  • News
  • »
  • chhattisgarh
  • »
  • सुकमा के 17 शहीद जवानों को नम आंखों के साथ पुलिस अधिकारियों ने दिया कंधा

सुकमा के 17 शहीद जवानों को नम आंखों के साथ पुलिस अधिकारियों ने दिया कंधा

शहीद जवानों को ​महिला कमांडो ने भी कंधा दिया.

शहीद जवानों को ​महिला कमांडो ने भी कंधा दिया.

सुकमा जिले के मिनपा इलाके रविवार को नक्सलियों के साथ हुई मुठभेड़ में 17 जवान शहीद हो गए थे. आज सुकमा जिला मुख्यालय में उन शहीद जवानों को श्रद्धांजलि दी गई.

  • Share this:
सुकमा. छत्तीसगढ़ में सुकमा जिले के मिनपा इलाके रविवार को नक्सलियों के साथ हुई मुठभेड़ (Naxal Attack) में 17 जवान शहीद (Seventeen Soldiers Died) हो गए थे. आज सुकमा जिला मुख्यालय में उन शहीद जवानों को श्रद्धांजलि (Tribute) दी गई. सुकमा पहुंचे केंद्रीय आंतरिक सुरक्षा सलाहकार के विजय कुमार, सीआरपीएफ डीजी एपी माहेश्वरी, डीजीपी डीएम अवस्थी ने शहीद जवानों को श्रद्धांजलि दी. इसके साथ ही अधिकारों ने शहीद जवानों के पार्थिव शरीर को कंधा दिया. शहीद जवानों का पार्थिव शरीर उनके गांव अंतिम संस्कार के लिए भेज दिया गया.

महिला कमांडो ने भी दी सलामी

वहीं महिला कमांडो ने भी शहिद जवानों को अंतिम सलामी दी. उन्होंने शहीद जवानों को श्रधांजलि दी और पार्थिव शरीर को कंधा भी दिया.

sukma
पुलिस अधिकारियों के श्रद्धांजलि देने के बाद शहीद जवानों का पार्थिव शरीर उनके गांव अंतिम संस्कार के लिए भेज दिया गया.


ये जवान हुए शहीद

राज्य सरकार द्वारा जारी सूची के मुताबिक डीआरजी के 12 और एसटीएफ के 5 जवान शहीद हुए. डीआरजी के हेमन्त दास मानिकपुरी, गंधम रमेश, लिबरु राम बघेल, सोयम रमेश, उइके कमलेश, पोडियम मुत्ता, धुरवा उइका, वंजाम नागेश, मड़कम्म मासा, मड़कम्म हिड़मा, नितेंद्र बंजामी सुकमा के रहने वाले थे. जबकि पोडियम लखमा बीजापुर के निवासी थे. हमले में 17 जवानों में एसटीएफ के 5 जवान गीतराम राठिया, रायगढ़, नारद निषाद- बालोद, हेमंत पोया- कांकेर, अमरजीत खलको- जशपुर और मड़कम्म बुच्चा सुकमा के रहन वाले थे.

करीब 550 जवान सर्चिंग के लिए निकले थे

सुकमा के कसालपाड़ और मिनपा में सीआरपीएफ, एसटीएफ और डीआरजी (डिस्ट्रिक्ट रिजर्व फोर्स) के करीब 550 जवान सर्चिंग के लिए निकले थे. जवानों को नक्सलियों के छत्तीसगढ़ के सक्रिय टॉप लीडर हिड़मा, नागेश और अन्य द्वारा कैंप लगाने का इनपुट मिला था. जवान सर्चिंग से लौट रहे थे. इसी दौरान नक्सलियों ने एंबुश लगाकर जवानों को फंसा लिया था. जवानों और नक्सलियों के बीच करीब साढ़े 3 घंटे तक मुठभेड़ चली. इसके बाद जवान अलग-अलग समूह में कैंप वापस लौटे. इनमें से 17 जवान लापता थे. इनकी शहादत हुई है. इसके अलावा 15 जवान घायल हैं, जिनका इलाज रायपुर के रामकृष्ण केयर अस्पताल में चल रहा है. इनमें से 2 की हालत गंभीर है.

ये भी पढ़ें: सुकमा: आंसुओं की धार के बीच तिरंगे में लपेटे गए 17 शहीद जवान

सुकमा में शहीद जवानों को दी जाएगी श्रद्धांजलि, CM भूपेश बघेल रहेंगे मौजूद

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज