विधानसभा चुनाव: अपने ही गृहमंत्री के खिलाफ यहां भाजपाइयों ने की बगावत

छत्तीसगढ़ के सूरजपुर जिले मे भाजपा पार्टी मे कुछ भी अच्छा नहीं हो रहा है. विधानसभा प्रत्याशी को लेकर पार्टी की अंदरुनी लड़ाई अब खुलकर सामने आनी शुरू हो गई है.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ के सूरजपुर जिले मे भाजपा पार्टी मे कुछ भी अच्छा नहीं हो रहा है. विधानसभा प्रत्याशी को लेकर पार्टी की अंदरुनी लड़ाई अब खुलकर सामने आनी शुरू हो गई है. बीते रविवार को बीजेपी पर्यवेक्षकों की उपस्थिति मे भाजपाई कार्यकर्ताओं ने छत्तीसगढ़ के गृहमंत्री रामसेवक पैकरा के खिलाफ बगावत कर दी. इसके बाद से सूरजपुर की राजनीति में चर्चाओं का दौर गर्म है.

दरअसल रविवार को सूरजपुर मुख्यालय में पार्टी पर्यवेक्षकों के आने की सूचना पर प्रतापपुर विधानसभा के चारों मंडलों से बड़ी संख्या मे भाजपा के कार्यकर्ता पंहुचे. कार्यकर्ताओं ने पार्टी पर्यवेक्षकों को साफ-साफ दो टूक शब्दो मे कहा कि पार्टी की तभी जीत होगी जब यहा से प्रत्याशी बदलेंगे. कार्यकर्ताओं ने बताया कि फिलहाल प्रतापपुर विधानसभा से एकलौते प्रत्याशी गृहमंत्री रामसेवक पैकरा हैं, जिनके खिलाफ भाजपा कार्यकर्ताओं में नाराजगी के साथ आक्रोश भी है.

ये भी पढ़ें: विधानसभा चुनाव: छत्तीसगढ़ में इस गठबंधन ने वामदलों की रणनीति पर फेरा पानी!



भाजपा कार्यकर्ता निरंजन दास, सिंगाचन सिंह, उषा सिंह व अन्य ने कहा कि पैकरा जब से वे मंत्री बने, वे भाजपा के जमीनी कार्यकर्ताओ को भूल गये हैं. अगर वे इस बार फिर से प्रतापपुर विधानसभा से चुनाव लड़ते हैं तो उनकी ऐतिहासिक हार होगी. कार्यकर्ताओ ने बताया कि बीते 5 सालो में क्षेत्र का कोई विकास नहीं हुआ है. मंत्री जी कार्यकर्ताओ की उपेक्षा कर काग्रेसियों को पालते पोसते रहे. साथ ही विकास की बात करने पर मंत्री जी पद का दुरुपयोग कर जेल भेजने में पीछे नहीं रहते. फिलहाल भाजपा के जमीन से जुड़े कार्यकर्ताओं ने पर्यवेक्षको से मुलाकात कर अपनी बातें सामने रख दी हैं.
ये भी पढ़ें: बूथ स्तर पर खुद को मजबूत करने इस रणनीति पर काम कर रही हैं पार्टियां 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज