प्रसव के दौरान अस्‍पताल स्‍टाफ की लापरवाही से शिशु की मृत्‍यु का आरोप

Varun Rai | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: October 12, 2017, 6:42 PM IST
प्रसव के दौरान अस्‍पताल स्‍टाफ की लापरवाही से शिशु की मृत्‍यु का आरोप
पी‍ड़ि‍त महिला रूपा पोर्ते.
Varun Rai | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: October 12, 2017, 6:42 PM IST
छत्‍तीसगढ़ में सूरजपुर जिले के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र भटगांव में एक गर्भवती महिला के परिजनों ने अस्पताल स्‍टाफ प्रबंधन की लापरवाही से प्रसव के दौरान शिशु की मृत्यु का आरोप लगाया है.

चुनगढ़ी की रहने वाली एक गरीब गर्भवती महिला रूपा पति बालेश्‍वर पोर्ते का दो दिन पूर्व भटगांव अस्पताल में प्रसव के दौरान बच्चा मृत निकला. परिजनों ने बताया कि अस्पताल में चिकित्सक नदारद थे और दो नर्सें ही महिला का इलाज कर रही थीं. कई दफा परिजनों ने महिला को दूसरे अस्पताल में रेफर करने की बात थी कही तो नर्सों ने उनके साथ दुर्व्यवहार किया और उन्‍हें जमकर फटकारा.

चुनगढ़ी गांव की मितानिन भी पीड़ि‍त महिला को लेकर पूरे दिन अस्पताल में नर्सों के आगे-पीछे घूमती रही और फटकार खाती रही, लेकिन मृत नवजात के बाद मितानिन के भी हौसले पस्त हो गए.

परिजनों ने यह भी बताया कि महिला को नौ माह का गर्भ था और गर्भ में बच्चा पूरी तरह स्वस्थ था, लेकिन लापरवाही पूर्वक प्रसव के कारण ही नवजात मृत निकला. परिजनों का कहना है कि प्रसव के बाद चिकित्सकों को जानकारी दिए बिना ही महिला की अस्पताल से छुट्टी कर दी गई और उसे वाहन सुविधा भी उपलब्‍ध नहीं कराई गई.

वहीं पूरे मामले पर भटगांव अस्पताल के चिकित्सा अधिकारी डॉ. महेश्वर सिंह पीड़ि‍ता के स्वस्थ हालत में अस्पताल में आने की बात तो स्‍वीकार कर रहे हैं, लेकिन अस्पताल प्रबंधन की कोई भी लापरवाही से इंकार करते नजर आए.

जहां नौ माह तक गर्भ में पलने वाले बच्चे की मौत ने जहां गरीब मां-बाप को बेसुध कर दिया है, वही अस्पताल प्रबंधन को लेकर पूरे गांव में रोष है.
First published: October 12, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर