अस्पताल होते हुए भी मरीज यहां झोलाछाप डॉक्टरों के पास जाने को मजबूर

छत्तीसगढ़ के सूरजपुर जिले में स्वास्थ्य व्यवस्था का हाल बेहाल है. यहां स्वास्थ्य विभाग द्वारा जिले में दर्जनभर प्राथमिक और उपस्वास्थ्य केंद्र भवन बनकर तैयार हैं, लेकिन कई माह बीतने के बाद भी एक अस्पताल नहीं खुल सका है.

Varun Rai | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: January 14, 2018, 6:08 PM IST
अस्पताल होते हुए भी मरीज यहां झोलाछाप डॉक्टरों के पास जाने को मजबूर
अस्पताल होते हुए भी मरीज यहां झोलाछाप डॉक्टरों के पास जाने को मजबूर
Varun Rai | ETV MP/Chhattisgarh
Updated: January 14, 2018, 6:08 PM IST
छत्तीसगढ़ के सूरजपुर जिले में स्वास्थ्य व्यवस्था का हाल बेहाल है. यहां स्वास्थ्य विभाग द्वारा जिले में दर्जनभर प्राथमिक और उपस्वास्थ्य केंद्र भवन बनकर तैयार हैं, लेकिन कई माह बीतने के बाद भी एक अस्पताल नहीं खुल सका है. वहीं जिले के तुलसी, रामनगर और बिहारपुर जैसे क्षेत्रों मे स्वास्थ्य सुविधाओं के अभाव में ग्रामीणों को मजबूरन झोलाछाप डॉक्टरों के पास जाना पड़ता है.

वहीं कई लोगों को तो कई किलोमीटर की दूरी तय कर दूसरे जिलों के अस्पतालों में जाना पड़ता है. ऐसे में ग्रामीणों का मानना है कि विभाग द्वारा जिस तरह से अस्पताल भवन तैयार किए गए हैं, उसी तरह से जल्द चिकित्सा सुविधा की व्यवस्था करनी चाहिए. ताकि लोगों को फिर किसी झोलाछाप डॉक्टर के पास जाना न पड़े.

स्थानीय लोगों की मानें तो जिले में स्वास्थ्य व्यवस्था को लेकर काफी समस्या है. सरकार ने आपाधापी और जल्दबाजी में बहुत सारे स्वास्थ्य केंद्र और दर्जनोंभर अस्पताल बना तो दिए हैं, लेकिन उन केंद्रों और अस्पतालों को अभी तक मरीजों के इलाज के लिए शुरू नहीं किया गया है.

वहीं मामले में सुरजपूर कलेक्टर के. सी. देवसेनापथि ने जल्द ही जिले में अस्पताल भवनों में स्वास्थ्य सुविधा की व्यवस्था किए जाने की बात कही है. उन्होंने कहा कि सभी केंद्रों और अस्पतालों में थोड़े बहुत काम बाकी हैं, जो पूरे कर लिए जाने के बाद जल्द ही मरीजों के लिए शुरू कर दिए जाएंगे.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर