कैशलेस हुए एटीएम के कारण उपभोक्ता पहुंच रहे ग्राहक सेवा केंद्र

सूरजपुर जिले में पिछले एक सप्ताह से कैशलेस हुए एटीएम के कारण उपभोक्ताओं को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. वहीं ग्रामीण अंचलों में लोग एटीएम के अभाव में छोटे छोटे ग्राहक सेवा केंद्रों का सहारा ले रहे हैं.

Varun Rai
Updated: April 17, 2018, 12:56 PM IST
कैशलेस हुए एटीएम के कारण उपभोक्ता पहुंच रहे ग्राहक सेवा केंद्र
कैशलेस हुए एटीएम के कारण उपभोक्ता पहुंच रहे ग्राहक सेवा केंद्र
Varun Rai
Updated: April 17, 2018, 12:56 PM IST
छत्तीसगढ़ के सूरजपुर जिले में पिछले एक सप्ताह से कैशलेस हुए एटीएम के कारण उपभोक्ताओं को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. इस दौरान सूरजपुर जिला मुख्यालय में जहां दो एटीएम मशीन ही संचालित हैं, वो भी कुछ घंटों बाद कैशलेश हो गईं. वहीं विश्रामपुर और भटगांव जैसे क्षेत्रों में एटीएम ड्राई पड़ी हुई है.

लिहाजा, इससे ग्राहकों को बैंकों में लंबी कतार में घंटों खड़े होकर इंतजार करना पड़ रहा है. वहीं ग्रामीण अंचलों में लोग एटीएम के अभाव में छोटे छोटे ग्राहक सेवा केंद्रों का सहारा ले रहे हैं. इन ग्राहक सेवा केंद्रों में केवल एक या दो हजार रुपए तक ही पैसे उपलब्ध कराकर ग्राहकों को सेवा दी जा रही है.

ऐसे में ग्राहक सेवा केंद्रों के संचालक का भी मानना है कि बैंक उन्हें कैश उपलब्ध नहीं कराते हैं, जिस कारण अपने दुकानदारी के रुपयों से ही वे लोगों की मदद कर रहे है. मामले में ग्रहक सेवा केंद्र की संचालक रश्मी दास का कहना है कि उनके यहां सभी तरह के ग्राहक आते हैं. एटीएम में कैश की समस्या होने की वजह से जिन्हें बैंकों में लंबी लंबी कतारों में खड़ा होना पड़ता, वो भी उनके यहां आते हैं.

उन्होंने कहा कि अभी शहर के एटीएम में फिर से कैश की समस्या हो गई है. इसलिए काफी संख्या में ग्राहक पैसे निकलाने के लिए ग्रहक सेवा केंद्र पहुंच रहे हैं. ऐसे में वे ग्राहकों को महज 2-3 हजार रुपए ही उपलब्ध करा पाती हैं.

बहरहाल, नोटबंदी के बाद अब कैशबंदी का दौर कब तक खत्म होता है यह देखने वाली बात होगी.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर