अंबिकापुर मेडिकल कॉलेज मान्यता पर खतरा, जांच को पहुंचे अधिकारी

छत्तीसगढ़ के अं​बिकापुर मेडिकल कॉलेज की मान्यता खतरे में है. कॉलेज की मान्यता के लिए स्वास्थ्य विभाग से लेकर स्वास्थ्य मंत्री तक एड़ी चोटी का जोर लगा रहे हैं.

ETV MP/Chhattisgarh
Updated: September 14, 2017, 4:32 PM IST
अंबिकापुर मेडिकल कॉलेज मान्यता पर खतरा, जांच को पहुंचे अधिकारी
मेडिकल कॉलेज में निरीक्षण करने पहुंचे अधिकारी
ETV MP/Chhattisgarh
Updated: September 14, 2017, 4:32 PM IST
छत्तीसगढ़ के अं​बिकापुर मेडिकल कॉलेज की मान्यता खतरे में है. कॉलेज की मान्यता के लिए स्वास्थ्य विभाग से लेकर स्वास्थ्य मंत्री तक एड़ी चोटी का जोर लगा रहे हैं.
अंबिकापुर मेडिकल कॉलेज को सत्र 2017-18 में एमबीबीएस की 100 सीट पर मान्यता नहीं मिली, यह सत्र जीरो ईयर हो गया और मान्यता समाप्त करने की भी चेतावनी दी गई.
हालांकि एमसीआई ने जिन कमियों को गिनाया, मेडिकल कॉलेज प्रबंधन ने उन कमियों को दूर कर एक बार फिर से मान्यता के लिए आवेदन किया है.
इसको लेकर ही गुरुवार को स्वास्थ्य सचिव छत्तीसगढ़ शासन सुब्रत साहू के साथ डायरेक्टर मेडिकल एजुकेशन और कमिश्नर हेल्थ भी अंबिकापुर पहुंचे. अधिकारियों ने मेडिकल कालेज के लिए चल रहे कार्यो का निरीक्षण किया.

अंबिकापुर मेडिकल कालेज प्रबंधन के लापरवाह कार्य शैली की वजह से यह कालेज शुरू से ही सुर्खियों में रहा है.
बीते दिनों एमसीआई टीम पहुंची, लेकिन उन्हें यहां सीनियर रेसीडेंट (एसआर),जूनियर रेसीडेंट (जेआर) तो मानक संख्या से कम मिले, फैकल्टी भी गैर हाजिर थे. एमसीआई की गोपनीय रिपोर्ट में इसका खुलासा हुआ है.
सूत्रों के मुताबिक 4 फैकल्टी निरीक्षण के दौरान रायपुर में थे, इन्हें डीन ने कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया है. अगर यही हाल रहा तो आगामी सत्र के लिए भी मान्यता को लेकर तलवार लटक सकती है.
प्रमुख सचिव सुब्रत साहू ने कहा कि कॉलेज एमसीआई की बताई गई कमियों को तेजी से दूर किया जा रहा है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए सूरजपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 14, 2017, 4:32 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...