लाइव टीवी

सखी वन स्टॉप सेंटर का पालना केंद्र नवजातों के लिए हो रहा वरदान साबित

BARUN ROY | News18 Chhattisgarh
Updated: December 26, 2018, 6:26 PM IST
सखी वन स्टॉप सेंटर का पालना केंद्र नवजातों के लिए हो रहा वरदान साबित
पालना में मिला नवजात मासूम

सूरजपुर मुख्यालय में स्थित सखी वन स्टाप सेंटर का पालना केन्द्र अनजान नवजात शिशुओं के लिए वरदान साबित हो रहा है. मंगलवार को फिर एक नवजात शिशु को उसकी मां या कोई और सखी सेंटर के पालना झूला में छोड़ गया. ْयहां छोड़े बच्चों के बेहतर लालन-पालन की व्यवस्था है.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ के सूरजपुर मुख्यालय में स्थित सखी वन स्टाप सेंटर का पालना केन्द्र अनजान नवजात शिशुओं के लिए वरदान साबित हो रहा है. मंगलवार को फिर एक नवजात शिशु को उसकी मां या कोई और सखी सेंटर के पालना झूला में छोड़ गया. नवजात को तत्काल जिला अस्पताल ले जाकर उसका स्वास्थ्य परीक्षण कर उपचार किया गया, इससे पश्चात नवजात का स्वास्थ बेहतर हो सका.सखी वन स्टाप सेंटर की ओर से अपील की गई है कि अनचाहे बच्चों को मारने या इधर-उधर नाले-कूड़े में फेंकने के बजाये सखी वन स्टाप सेंटर की पालना केंद्र में डाल दें.

दरअसल जिले मुख्यालय के सखी वन स्टाप सेंटर परिसर में शिशु पालना केन्द्र की स्थापना की गई है. इसका उद्देश्य अनचाहे बच्चों को बजाए इसके कि हत्या कर दी जाए, पालना झुले में डालने की व्यव्स्था की गई है. इन बच्चों की उचित देखभाल कर वैधानिक तरीके से उनका लालन पालन किया जाता है.

मंगलवार को मिले नवजात शिशु का स्वास्थ बेहतर हाने के बाद लालन पालन के लिए मातृ छाया केंद्र अंबिकापुर भेज दिया गया है. सखी वन स्टाप सेंटर केन्द्र प्रशासक विनिता सिन्हा ने बताया कि सखी वन स्टाप सेंटर के पालना मे अब तक 3 नवजात बच्चे मिले हैं, जिनको बेहतर पालन के लिए मातृ छाया भेजा गया है.

यह भी पढ़ें - OPINION: सरकारों पर पुरुषवादी सोच हावी, बात हमेशा आम आदमी की होती है, औरत की नहीं!

यह भी पढ़ें - भूपेश के कैबिनेट में डॉक्टर, इंजीनियर सहित 9 ग्रेजुएट, एक 12वीं पास, एक सिर्फ साक्षर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए सूरजपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 26, 2018, 6:26 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर