इस नगर पंचायत में नहीं है बस स्टैंड, सड़कों पर खड़े होकर करना पड़ता है इंतजार

अंबिकापुर-बनारस अंतर्राज्यीय मार्ग में जिले का एकमात्र नगर पंचायत जरही है, जिस कारण दूसरे राज्यों में आने जाने वाले यात्रियों की संख्या ज्यादा रहती है. रोजाना जरही चौक में 1 हजार से ज्यादा यात्री अलग-अलग बसों के इंतजार में सड़क किनारे खड़े रहते हैं.

Varun Rai | News18 Chhattisgarh
Updated: January 23, 2019, 12:09 PM IST
इस नगर पंचायत में नहीं है बस स्टैंड, सड़कों पर खड़े होकर करना पड़ता है इंतजार
इस नगर पंचायत में नहीं है बस स्टैंड, सड़कों पर खड़े होकर करना पड़ता है इंतजार
Varun Rai | News18 Chhattisgarh
Updated: January 23, 2019, 12:09 PM IST
छत्तीसगढ़ में सूरजपुर जिले के अंबिकापुर-बनारस अंतरराज्यीय मार्ग स्थित जरही नगर पंचायत के लोग वर्षों से बस स्टैंड के अभाव में परेशान हैं. दरअसल, अंबिकापुर-बनारस अंतर्राज्यीय मार्ग में जिले का एकमात्र नगर पंचायत जरही है, जिस कारण दूसरे राज्यों में आने जाने वाले यात्रियों की संख्या ज्यादा रहती है. लिहाजा, रोजाना जरही चौक में 1 हजार से ज्यादा यात्री अलग-अलग बसों के इंतजार में सड़क किनारे खड़े रहते हैं. वहीं बारिश और गर्मी के दिनों में यात्रियों को बस स्टैंड के अभाव में काफी परेशानी होती है. इसे लेकर नगरवासी कई बार प्रशासन से गुहार भी लगा चुके हैं, लेकिन कोई पहल होती नहीं दिखाई दे रही है.

स्थानीय लोगों का कहना है कि अगर बस स्टैंड होता, मार्केट का भी ग्रोथ होता. वहीं बस स्टैंड नहीं होने से रोजाना आने-जाने वाले यात्रियों को सड़क किनारे खड़े होकर बस का इंतजार करना पड़ता है.

मामले में नगर पंचायत जरही के लेखापाल अरविंद विश्वकर्मा ने बताया कि वर्ष 2012 में करीब 8 लाख रुपए की स्वीकृति मिल चुकी है, जहां भूमि चयन को लेकर परेशानी आ रही थी. वहीं शासन स्तर पर प्रयास जारी है. हालांकि जल्द ही नगरवासियों को बस स्टैंड की सौगात दिलाने का दावा करते नजर आए.

ये भी पढ़ें:- सूरजपुर: सूखे की मार झेल चुके किसानों को अब नहीं मिल रही फसल बीमा की राशि

ये भी पढ़ें:- अतिक्रमण के कारण सिमट रहा प्रतापपुर परिक्षेत्र का जंगल, वन विभाग उदासीन
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...