अपना शहर चुनें

States

VIDEO: अंबिकापुर शहर को स्वच्छता सर्वेक्षण में मिला 15वां स्थान

अंबिकापुर नगर पालिक निगम में स्वच्छता मॉडल का अनुकरण देश के कई शहरों में किया जा रहा है.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ के अंबिकापुर नगर पालिक निगम में स्वच्छता मॉडल का अनुकरण देश के कई शहरों में किया जा रहा है. इसी क्रम में बीते सोमवार को गुजरात के स्वच्छ भारत मिशन के संचालक बी. सी. पाटनी, राजकोट महानगरपालिका (आरएमसी) अहमदाबाद के चंद्रकांत पी. नेमा, आरएमसी गांधीनगर के विशाल गुप्ता समेत मोडेसा, धोडका, हलोल, द्वारका, व्यारा और वल्लभीपुर के अधिकारियों द्वारा अंबिकापुर निगम क्षेत्र में स्थित ठोस एवं तरल संसाधन प्रबंधन (एसएलआरएम) केंद्र एवं सेनेटरी पार्क का भ्रमण कर कार्यरत सदस्यों से उनके कार्यानुभव से संबंधित जानकारी प्राप्त की गई. सदस्यों ने बताया कि वे अपने कार्य और पारिश्रमिक से पूरी तरह संतुष्ट हैं.

गुजरात के नगरीय प्रशासन के संचालक श्री. पाटनी और विभिन्न नगरीय निकायों के आईएएस अधिकारियों और प्रोजेक्टर ऑफिसर द्वारा स्वच्छता समिति के सदस्यों से जानकारी प्राप्त की गई. साथ ही निगम आयुक्त सूर्यकिरण तिवारी के मार्गदर्शन में एसएलआरएम प्रबंधन के प्रस्तुतिकरण को दृष्टिगत रखकर अंबिकापुर स्वच्छता मॉडल की सराहना की. उन्होंने बताया कि इस स्वच्छता मॉडल को वे अपने शहरों में भी लागू करेंगे.

इधर, अंबिकापुर नगर पालिक निगम आयुक्त ने बताया कि अंबिकापुर शहर को भारत में स्वच्छता सर्वेक्षण में 15 स्थान हासिल किया है. वहीं इस प्रोजेक्ट को देखने के लिए दिल्ली, यूपी, पंजाब और हरियाणा जैसे राज्य यहां देखने आ चुके हैं. वहीं इसे देखने के लिए बीते सोमवार को एनजीटी, पीएमओ स्वच्छ भारत की टीम ने निरीक्षण किया.



नगर पालिक निगम अंबिकापुर को स्वच्छ रखने के उद्देश्य से स्वच्छ अंबिकापुर मिशन सहकारी समिति के सदस्यों द्वारा नगरीय क्षेत्र में एसएलआरएम केंद्रों का संचालन किया जा रहा है. स्वच्छता समिति के सदस्यों द्वारा निगम क्षेत्र के प्रत्येक घर और व्यावसायिक प्रतिष्ठानों से सूखे और गीले कचरे का संग्रहण करते हुए एसएलआरएम केंद्रों में कचरे की प्रकृति के अनुसार उनका पृथक्करण किया जा रहा है.
बहरहाल, अंबिकापुर शहर की तारीफ एक-दो राज्यों में नहीं बल्कि भारत के सभी राज्यों में हो रही है. इसका ताजा उदहारण सोमवार को देखने को मिला.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज