अबुझमाड़ मुठभेड़ के दौरान मिले माओवादियों के पत्र से हुआ बड़ा खुलासा

उस मुठभेड़ के दौरान पुलिस को माओवादियों के साहित्य और पत्र मिले थे, जिसमें से एक पत्र माओवादियों के कुवानार एरिया कमेटी एवं नेलनार एरिया कमेटी के मध्य पत्र के माध्यम से हुई बातचीत की जानकारी मिली है.

उस मुठभेड़ के दौरान पुलिस को माओवादियों के साहित्य और पत्र मिले थे, जिसमें से एक पत्र माओवादियों के कुवानार एरिया कमेटी एवं नेलनार एरिया कमेटी के मध्य पत्र के माध्यम से हुई बातचीत की जानकारी मिली है.

उस मुठभेड़ के दौरान पुलिस को माओवादियों के साहित्य और पत्र मिले थे, जिसमें से एक पत्र माओवादियों के कुवानार एरिया कमेटी एवं नेलनार एरिया कमेटी के मध्य पत्र के माध्यम से हुई बातचीत की जानकारी मिली है.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ में नारायणपुर जिले के अबुझमाड़ इलाके में पिछले महीने के अंत में पुलिस एवं माओवादियो के बीच मुठभेड़ हुई थी.



उस मुठभेड़ के दौरान पुलिस को माओवादियों के साहित्य और पत्र मिले थे, जिसमें से एक पत्र माओवादियों के कुवानार एरिया कमेटी एवं नेलनार एरिया कमेटी के मध्य पत्र के माध्यम से हुई बातचीत की जानकारी मिली है.



वहीं 1 फरवरी को कुतुल में हुए मुठभेड़ 2 पीएलजीए के लड़ाकों को मार गिराया था तो उसके बाद बेड़माकोट में हुई मुठभेड़ दो माओवादी मोटू एवं रैंगू को मार गिराया था, जिसे बाद में माओवादियों ने किसान और ग्रामीण बता दिया था.





लेकिन मुठभेड़ के दौरान मिले पत्र से खुलासा हुआ है कि माओवादियों ने मारे गए चारों माओवादियों को अपना साथी माना है और पुलिस के बढ़ते दबाव का भी जिक्र किया है.
वहीं, माओवादियों के पास से मिले पत्र में उक्त कुवानांर एरिया कमेटी की लक्ष्मी को नेलनार एरिया कमेटी की करुणा ने लिखा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज