लाइव टीवी

विधानसभा में क्लीन स्वीप के बाद लोकसभा चुनाव में भी सरगुजा फतेह करने की फिराक में कांग्रेस

News18 Chhattisgarh
Updated: February 28, 2019, 4:05 PM IST
विधानसभा में क्लीन स्वीप के बाद लोकसभा चुनाव में भी सरगुजा फतेह करने की फिराक में कांग्रेस
demo pic

विधानसभा चुनाव 2018 में सरगुजा संभाग की सभी 14 सीटें कांग्रेस ने जीती हैं. सरगुजा लोकसभा सीट पर पिछले 4 बार से बीजेपी का ही कब्जा है.

  • Share this:
छत्तीसगढ़ की सरगुजा लोकसभा सीट अनुसूचित जनजाति (एसटी)  के लिए आरक्षित है. सरगुजा जिले का अंबिकापुर छ्त्तीसगढ़ के पुराने शहरों में से एक है. सरगुजा स्टेट के राजपरिवार से ताल्लुक रखने वाले टीएस सिंहदेव छत्तीसगढ़ के सबसे अमीर विधायक हैं. 2018 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी की रमन सिंह सरकार के चौथी बार सत्ता में काबिज होने का सपना तोड़ते हुए सरकार बनाने वाली कांग्रेस सरकार में सरगुजा संभाग से दो मंत्री टीएस सिंहदेव और डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम को कैबिनेट में जगह दी गई है.

विधानसभा चुनाव 2018 में सरगुजा संभाग की सभी 14 सीटें कांग्रेस ने जीती हैं. सरगुजा लोकसभा सीट पर पिछले 4 बार से बीजेपी का ही कब्जा है. वर्तमान में कमलभान सिंह मराबी यहां से सांसद हैं. यहां के सांसदों की किस्मत 15 लाख 23 हजार मतदाता लिखने जा रहे हैं. लोकसभा के 2004, 2009 और 2014 चुनावों में सरगुजा सीट पर बीजेपी ही जीती है, लेकिन विधानसभा चुनाव में क्लीन स्वीप के बाद कांग्रेस लोकसभा चुनाव में जीत का दावा कर रही है.

बता दें कि रामायण में सरगुजा का उल्लेख देखने को मिलता है. जिसके मुताबिक भगवान राम वनवास के दौरान यहां पर आए थे. आदिवासी बाहुल्य सरगुजा में पांच जिले सरगुजा, जशपुर, कोरिया, बलरामपुर और सूरजपुर आते है. सरगुजा संसदीय क्षेत्र में विधानसभा की 8 सीटों में से पांच विधानसभा सीट अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित हैं. जिनमें प्रेमनगर, भाटगांव, प्रतापपुर(एसटी), रामानुजगंज(एसटी), सामरी(एसटी), लुंड्रा(एसटी), अंबिकापुर, सीतापुर(एसटी) शामिल हैं. सरगुजा लोकसभा के अंर्तगत आने वाली अंबिकापुर विधानसभा सीट कांग्रेस के दिग्गज नेता टीएस सिंहदेव का मजबूत गढ़ मानी जाती है.

इस लोकसभा सीट पर 2014 में बीजेपी के कमलभान सिंह मराबी ने कांग्रेस के रामदेव राम को हराया था. इससे पहले साल 2009 में कांग्रेस के भानुप्रताप सिंह को भाजपा के मुरारीलाल सिंह ने हराया था. साल 2004 के चुनावों में सरगुजा सीट पर बीजेपी के नंदकुमार साय ने कांग्रेस के खेलसे सिंह को हराया था.

कौन हैं सांसद?
सरगुजा सीट से वर्तमान सांसद कमलभान सिंह मराबी हैं. 1 जुलाई 1963 को जन्मे कमलभान पेशे से किसान है. उन्होंने एमए (इतिहास) तक शिक्षा प्राप्त की है. उनकी पत्नी का नाम सोमकुंवर है और उनके परिवार में दो बेटे और 6 बेटियां हैं. जनवरी, 2019 तक बीजेपी सांसद कमलभान सिंह मराबी को पांच साल के कार्यकाल के लिए 25 करोड़ रुपये की राशि तय की गई थी. सांसद ने अब तक अपने सांसद निधि से क्षेत्र के विकास के लिए 21.52 करोड़ रुपए में से 21.40 करोड़ रुपये खर्च किए हैं.
ये भी पढ़ें: लोकसभा चुनाव 2019: न्यायधानी में इस बार जीत की उम्मीद लगा रही है कांग्रेस​
Loading...

ये भी पढ़ें: लोकसभा चुनाव 2019: कांकेर में 1998 से जीत के लिए तरस रही है कांग्रेस   
ये भी पढ़ें: एयर स्ट्राइक: पूर्व सीएम डॉ. रमन का ट्वीट- 'हमला नहीं प्रतिशोध है, हर भारतीय का आक्रोश है' 
एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए सरगुजा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 28, 2019, 4:05 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...