• Home
  • »
  • News
  • »
  • chhattisgarh
  • »
  • जानें, क्यों 550 टन मैगी नष्ट करना चाहती है नेस्ले इंडिया?

जानें, क्यों 550 टन मैगी नष्ट करना चाहती है नेस्ले इंडिया?

File Photo

File Photo

सुप्रीम कोर्ट ने नेस्ले इंडिया की 550 टन मैगी नूडल्स को नष्ट करने की अनुमति मांगने वाली याचिका पर 30 सितंबर को सुनवाई करेगा. नेस्ले इंडिया ने इस स्टॉक को नष्ट करने की अनुमति मांगते हुए कहा है कि इस स्टॉक को बाजार से वापस लिया गया है क्योंकि उनकी मियाद खत्म हो गई है.

  • Bhasha
  • Last Updated :
  • Share this:
    सुप्रीम कोर्ट ने नेस्ले इंडिया की 550 टन मैगी नूडल्स को नष्ट करने की अनुमति मांगने वाली याचिका पर 30 सितंबर को सुनवाई करेगा. नेस्ले इंडिया ने इस स्टॉक को नष्ट करने की अनुमति मांगते हुए कहा है कि इस स्टॉक को बाजार से वापस लिया गया है क्योंकि उनकी मियाद खत्म हो गई है.

    जस्टिस दीपक मिश्रा और जस्टिस सी. नागप्पन की बैंच ने गुरुवार को इस याचिका पर सुनवाई की तारीख 30 सितंबर तय की. इससे पहले भारतीय खाद्य सुरक्षा एवं मानक प्राधिकरण (एफएसएसएआई) ने नेस्ले इंडिया की अपील पर जवाब देने के लिए एक सप्ताह का समय मांगा था. नेस्ले ने कहा कि देशभर में जिन 39 स्थानों पर इस स्टॉक को रखा गया है, वहां स्वास्थ्य संबंधी दिक्कत पेश हो सकती हैं.

    कंपनी की ओर से पेश सीनियर वकील हरीश साल्वे ने कहा कि पूर्व में भी 38,000 टन नूडल्स को नष्ट किया गया है. इसमें हमने एफएसएसएआई और कंपनी के बीच बनी सहमति के अनुरूप प्रक्रियाओं का पालन किया.

    खाद्य नियामक के वकील ने कहा कि स्टॉक को नष्ट करना सबूत को नष्ट करना है और इस विषय पर दो एसएलपी शीर्ष अदालत में लंबित हैं. नियामक के वकील ने निर्देश लेने और नेस्ले इंडिया की याचिका पर जवाब दायर करने के लिए एक सप्ताह का समय मांगा.

    दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद कोर्ट ने मामले की सुनवाई स्थगित कर दी और इसकी अगली सुनवाई के लिए 30 सितंबर की तिथि निर्धारित की.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज